बिहार की बेटी को Google ने दिया करोड़ों के पैकेज का ऑफर, ऐसे हासिल किया यह मुकाम

दुनिया के सबसे बेहतरीन कंपनी में से एक गूगल (Google) जिसमे नौकरी करने का सपना हर कोई देखता है, लेकिन बहुत ही कम लोगों को यहां काम करने का अवसर मिल पाता है। हालांकि मेहनत और लगन के साथ बढ़ने वाले युवाओं के लिए कोई भी मुकाम उतना मुश्किल नहीं होता। ऐसा ही मजबूत उदाहरण बिहार की एक बेटी ने पेश किया है. जहां किसी के पास एक नौकरी नहीं रहती. पटना की रहने वाली संप्रीति यादव (Sampriti Yadav) के पास चार-चार कंपनियों का ऑफर आया था. लेकिन संप्रीति की मंजिल तो दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक गूगल (Google) थी. बिहार की इस प्रतिभावान छात्रा को गूगल ने 1.10 करोड़ रुपये का सालाना पैकेज का ऑफर दिया है.

यह भी पढ़ें  Bihar Weather: बिहार में भीषण गर्मी से मिली राहत, बारिश ने बदला मौसम का मिजाज

आपको बता दे की इस खबर को सुनते ही संप्रीति के घर में खुशी की लहर दौड़ गई. परिजनों के अलावा इलाके के लोग भी काफी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. संप्रीति ने दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी (Delhi Technological University) से कंप्यूटर साइंस (Computer Science) से बी.टेक किया है. संप्रीति 14 फरवरी से गूगल में काम करना शुरू करेंगी.

9 राउंड के कठिन सवालों के बाद मिली कामयाबी

बताया जा रहा है की संप्रीति यादव के लिए गूगल की नौकरी पाने का रास्ता आसान नहीं था. बताया जा रहा है कि गूगल का इंटरव्यू नौ राउंड तक चला था. इन सभी राउंड में पटना की लाडली ने सभी सवालों के सही उत्तर दिए थे. इसके बाद ही गूगल ने संप्रीति को इतने बड़े पैकेज वाली नौकरी का ऑफर दिया. वहीं, यह भी बताया जा रहा है कि संप्रीति को माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) से भी नौकरी का ऑफर मिला था.

यह भी पढ़ें  खाद्य तेलों के दाम और घटेंगे! क्‍या कोशिश कर रही सरकार और कब तक होगा इसका असर?

बड़ा करने के लिए लक्ष्य तय करना बेहद जरूरी  

खास बात यह है की गूगल में सेलेक्ट होने पर संप्रीति ने बताया कि गूगल की टीम की तरफ से ऑनलाइन नौ राउंड का इंटरव्यू लिया गया. मैंने इंटरव्यू के लिए कड़ी मेहनत की थी. सभी राउंड में मेरे जवाब से गूगल के अधिकारी संतुष्ट हो गए. जिसके बाद मुझे यह जॉब ऑफर की गई. संप्रीति यादव ने अपनी सफलता के बारे में बात करते हुए कहा कि अगर आप कुछ बड़ा करना चाहते हैं तो पहले अपना लक्ष्य तय करें, और फिर उसके हिसाब से तैयारी करें. अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको सफलता निश्चित ही मिलेगी.

यह भी पढ़ें  बिहार के पर्यटन स्थलों तक जाने के लिए जल्द होगा सड़कों का निर्माण, 12 हजार किलोमीटर से अधिक होगी लंबाई