UPSC के रिजल्ट में बिहार के छात्रों का जलवा, बिहार के मजदूर पिता के बेटे को UPSC में मिली सफलता

UPSC (Union Public Service Commission) की इम्तिहान को अपने आप में सबसे कठिन और कड़ा इम्तिहान माना जाता है | असंभव की भी एक न एक दिन शुरुआत करनी ही पड़ती है | और जब उसे सफलता मिलती है तो वही शख्स आने वाले पीढ़ी के लिए मार्ग दर्शन का कारण बनते हैं. बता दे की इस बार भी बिहार के अभ्यर्थियों ने बाजी मारी है। इस बार मुजफ्फरपुर के एक मजदूर पिता के बेटे विशाल कुमार ने भी सफलता हासिल की है। सिविल सेवा परीक्षा में बिहार के कई अभ्‍यर्थियों ने सफलता हासिल की है। राजधानी पटना के बिस्कोमान कालोनी के रहने वाले हरेंद्र सिंह जो शेखपुरा जिले के बरबीघा में प्राइवेट आइटीआइ कालेज का संचालन करते हैं उनके पुत्र आशीष ने 23वां स्थान हासिल किया है।

आपको बता दे की कटिहार जिले के राज हाता के रहने वाले दुर्गा लाल के बेटें अमन अग्रवाल को 88वां रैंक प्राप्त हुआ है। खास बात यह है की पिछले साल के टॉपर शुभम बिहार के थे। हमेशा से ही बिहार का रिजल्‍ट बेहतर आता रहा है। वहीं इस बार की टॉपर उत्तरप्रदेश के बिजनौर की रहने वाली श्रुति शर्मा है। इस साल के सभी शीर्ष तीन पदों पर लड़कियों ने दबदबा बनाया है।

जानकारी के लिए बता दे की श्रुति सेंट स्टीफंस कॉलेज और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रा हैं। श्रुति जामिया मिलिया इस्लामिया आवासीय कोचिंग अकादमी में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रही हैं। तो चलिए इस बार की टॉपर्स की लिस्ट देखते है। इस बार के टॉपर्स में पहला स्थान – श्रुति शर्मा का है। दूसरा स्थान- अंकिता अग्रवाल, तीसरा स्थान – गामिनी सिंगला, चौथा स्थान – ऐश्वर्य वर्मा, पांचवा स्थान – उत्कर्ष द्विवेदी, छठा स्थान – यक्ष चौधरी, सातवां स्थान – सम्यक एस जैन, आठवां स्थान – इशिता राठी, नौवां स्थान – प्रीतम कुमार, दसवां स्थान – हरकीरत सिंह रंधावा ने हासिल किया है।