पटना के पारस हॉस्पिटल पर केस दर्ज, मां की मौत के बाद बेटी ने लागये गंभीर आरोप

पटना के बड़े प्राइवेट अस्पताल पारस हॉस्पिटल की मुसीबत बढ़ गई है। मंगलवार को एक महिला मरीज की मौत के बाद उसकी बेटी ने गंभीर आरोप लगाते हुए पारस के खिलाफ थाने में केस दर्ज कराया है। युवती ने अस्पताल प्रबंधन पर जान-बूझकर मां की हत्या करने का आरोप लगाया है। इस बाबत उसने शास्त्रीनगर थाने में पारस अस्पताल पर केस दर्ज करवाया है। उसकी मां आंगनबाड़ी सेविका थीं। पांच दिन पहले ही वह अपनी मां को नालंदा के हरनौत प्रखंड के गांव से लाई थी। मां के साथ अनहोनी की आशंका बेटी ने मंगलवार को ही जाहिर की थी। मृतक की बेटी ने आरोप लगाया है कि आवाज उठाना ही उसकी मां की मौत का कारण बन गया। 

यह भी पढ़ें  Bihar Weather : बिहार के इन जिलो में अगले 24 घंटे में हो सकती है बारिश, जानें विभाग का ताजा अपडेट

दो दिन पहले एसआईटी ने आरोप लगाया था कि पारस हॉस्पिटल में इलाज के दौरान उसकी मां के साथ हॉस्पिटल के कुछ स्टाफ ने दुष्कर्म किया। इस मामले में एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसके बाद मामले ने इतना तूल पकड़ा की अपनी मां का इलाज करा रही युवती में सोमवार को चुप्पी साध ली थी हालांकि मंगलवार को उसकी मां की मौत हो गई। युवती का आरोप है कि उसकी मां के मौत के बाद शव का पोस्टमार्टम नहीं किया गया है। महिला का अंतिम संस्कार बांस घाट पर किया गया।

पुलिस में केस दर्ज कराने के बाद अब इस युवती ने पटना के डीएम को भी पत्र लिखने की बात कही है। माना जा रहा है कि पुलिसिया जांच के आधार पर जिला प्रशासन के मजिस्ट्रेट को भी जांच की जिम्मेदारी दी जा सकती है। इस मामले में पटना के रेंज आईजी संजय सिंह ने कहा है कि छेड़खानी और अन्य धाराओं के साथ एफआईआर दर्ज की गई है। जांच के उपरांत जो तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। पारस अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि मरीज की बेटी की तरफ से लगाए गए आरोप बेबुनियाद है। अस्पताल प्रबंधन ने आरोपों की जांच अपनी तरफ से कराई है और उसे निराधार पाया है। पारस अस्पताल प्रबंधन ने कहा है कि इसकी जानकारी वरीय अधिकारियों को भी दे दी गई है।

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : समस्तीपुर के मरीजों को अब इलाज के लिए नहीं जाना पड़ेगा बाहर, सीएचसी की रखी गई आधार शिला

input – first bihar