बिहार : 30 जुलाई को मिलना है नियुक्ति पत्र, छह जिला परिषदों में अब तक नहीं हुई काउंसेलिंग

बिहार में सरकारी नौकरी (Bihar Teacher Salary) की दूसरे राज्यों से कुछ ज्यादा ही क्रेज है। लोगों को ख्वाहिश होती है, नौकरी चाहे जैसी भी हो, सरकारी होनी चाहिए। इसके चक्कर में इंजीनियर भी फोर्थ ग्रेड इम्पलाई (Fourth Grade Employee) बनने के लिए फॉर्म भरते रहते हैं. इसी बीच 32 हजार से अधिक माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षकों की नियुक्ति के लिए बुधवार को काउंसेलिंग का अंतिम राउंड पूरा हो गया. खबरों की माने तो बुधवार को जिला परिषद नियोजन इकाइयों के लिए काउंसेलिंग होनी थी. इनमें भागलपुर, बांका, जमुई, बेतिया और अन्य दो स्थानों की जिला परिषद की नियोजन इकाइयों ने काउंसेलिंग नहीं करायी. शिक्षा विभाग ने इसे गंभीर लापरवाही माना है.

यह भी पढ़ें  एयरपोर्ट की तर्ज पर विश्वस्तरीय बनेंगे मुजफ्फरपुर, सहित 12 रेलवे स्टेशन, देखें कौन से शहर हैं शामिल

अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी

आपको बता दे की इसको लेकर विभाग इन सभी जिलों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करेगा. जहां लापरवाही पूर्ण तरीके से काउंसेलिंग नहीं हो सकी है, वहां आगे की काउंसेलिंग कराने के लिए विभाग अलग से विचार करेगा. खास बात यह है की इनके अलावा बाकी सभी जिला परिषद नियोजन इकाइयों ने बेहतर तरीके से काउंसेलिंग करा ली है.

जल्दी ही चयन सूची जारी की जायेगी

बताते चले की शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने बताया कि काउंसेलिंग नहीं करा पाने वाले जिला नियोजन इकाइयों की जानकारी ली जा रही है. माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षकों की काउंसेलिंग 25 जुलाई से हो रही है. वही 25 जुलाई को नगर निगम और 26 को नगर पंचायत नियोजन इकाइयों की काउंसेलिंग करायी गयी है.

यह भी पढ़ें  बिहार-झारखंड के यात्री ध्‍यान दें, इन ट्रेनों को किया गया कैंसिल, देखें लिस्‍ट