बिहार के सभी सरकारी अस्पताल अब होंगे वेंटिलेटर से लैस! विभाग मुहैया कराएगी 90 मशीन

बिहार में सरकारी अस्पताल की स्थिति को सुधारने के लिए सरकार लगातार काम कर रही है. खास बात यह है की बिहार में सरकारी अस्पतालों के आईसीयू में वेंटिलेटर की कमी दूर की जा रही है. बता दे की बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार के चार मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों के साथ ही पांच जिला अस्पतालों के आईसीयू (गहन चिकित्सा देखभाल इकाई) को शीघ्र नई तकनीक से बनी वेंटिलेटर से लैस किया जाएगा. वही विभाग की तरफ से इसको लेकर 90 वेंटिलेटर मुहैया कराई गई है.

बताया जा रहा है की इसके साथ ही बिहार के मेडिकल कॉलेज अस्पतालों, जिला अस्पतालों में आईसीयू की क्षमता बढ़ाने से मरीजों को इलाज में बेहतर सुविधा मिलेगी। इन्होंने कहा किइससे जहां उचित इलाज मिल पाएगा, वहीं अन्य बीमारियों में भी मदद मिल पाएगी.

यह भी पढ़ें  957 करोड़ की लागत से बिहार के इस जिला में भी बनेगा शानदार मेडिकल कॉलेज

मरीजों का हो सकेगा बेहतर इलाज 

आपको बता दे की बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि वेंटिलेटरों की संख्या बढ़ने से मरीजों को समुचित इलाज में मदद मिलेगी। मीडिया रिपोर्ट की माने तो कई बीमारियों को ध्यान में रखते हुए मेडिकल कॉलेज अस्पताल और जिलों के सिविल सर्जन के मांगपत्र के बाद वेंटिलेटर का आवंटन किया गया है. आपके जानकारी के लिए बता दे की भारत सरकार से सहयोग स्वरूप प्राप्त वेंटिलेटर्स को IGIMS (इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान), DMCH (दरभंगा मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल), ANMMCH (अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज गया), GMC (गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल पूर्णिया) व IGIC (इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान) को वेंटिलेटर आवंटित किए गये हैं, खास बात यह है की जिला अस्पताल लखीसराय, नालंदा, समस्तीपुर, सारण एवं बांका को भी वेंटिलेटर की आवंटन किया गया है.

यह भी पढ़ें  सभी को मिले शिक्षा का अधिकार, सरकारी स्कूलों को टाइट करने में जुटे बिहार के इस जिले के डीएम