बिहार जाने वाले यात्रियों के लिए खुशखबरी, कल से सप्‍ताह में दो दिन चलेगी चम्‍पारण हमसफर एक्‍सप्रेस ट्रेन, देखें शेड्यूल

इस समय बिहार के रेल यात्रियों के लिए बहुत ही जरूरी खबर सामने आ रही है. बता दे की यात्रियों की सुविधा के मद्देनजर कटिहार-दिल्ली-कट‍िहार चम्पारण हमसफर एक्सप्रेस ट्रेन (Katihar-Delhi Champaran Humsafar Express Train) के संचालन से द‍िल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश और ब‍िहार के यात्र‍ियों का रेल आवागमन सुगम और आसान हो सकेगा. पूर्वोत्‍तर रेलवे के प्रवक्‍ता पंकज कुमार स‍िंह के मुताब‍िक 15705 कटिहार-दिल्ली चम्पारण हमसफर एक्सप्रेस का संचलन कटिहार से 14 जुलाई, 2022 से प्रत्येक सोमवार एवं बृहस्पतिवार क‍िया जाएगा. वहीं, 15706 दिल्ली-कटिहार चम्पारण हमसफर एक्सप्रेस का संचलन दिल्ली से 15 जुलाई, 2022 से प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को संशोधित समयानुसार निम्नवत किया जायेगा.

यह भी पढ़ें  बिहार के इन स्टेशनों की बदल गई कीमत 400 करोड़ रुपया खर्च कर रेलवे बनाएगी वर्ल्ड क्लास देखिये ये सभी स्टेशन का नाम है शामिल

आपको बता दे की ट्रेन संख्‍या 15705 कटिहार-दिल्ली चम्पारण हमसफर एक्सप्रेस 14 जुलाई, 2022 से प्रत्येक सोमवार एवं बृहस्पतिवार को कटिहार से 07.50 बजे प्रस्थान कर नवगछिया से 08.39 बजे, खगड़िया से 10.30 बजे, समस्तीपुर से 11.55 बजे, मुजफ्फरपुर से 12.55 बजे, बापूधाम मोतिहारी से 14.03 बजे, बेतिया से 14.39 बजे, नरकटियागंज से 15.37 बजे, गोरखपुर से 20.50 बजे, सिद्धार्थनगर से 21.57 बजे, बलरामपुर से 22.43 बजे, दूसरे दिन गोंडा से 01.25 बजे, लखनऊ से 04.20 बजे, कानपुर सेंट्रल से 06.10 बजे तथा अलीगढ़ जं. से 09.22 बजे छूटकर दिल्ली 11.45 बजे पहुंचेगी.

खास बात यह है की वापसी यात्रा में 15706 दिल्ली-कटिहार चम्पारण हमसफर एक्सप्रेस 15 जुलाई, 2022 से प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को दिल्ली से 16.35 बजे प्रस्थान कर अलीगढ़ जं. से 18.10 बजे, कानपुर सेंट्रल से 21.45 बजे, लखनऊ से 23.20 बजे, दूसरे दिन गोंडा से 01.50 बजे, बलरामपुर से 02.39 बजे, सिद्धार्थनगर से 04.04 बजे, गोरखपुर से 06.35 बजे, नरकटियागंज से 09.05 बजे, बेतिया से 09.34 बजे, बापूधाम मोतिहारी से 10.08 बजे, मुजफ्फरपुर से 13.00 बजे, समस्तीपुर से 13.55 बजे, खगड़िया से 15.40 बजे तथा नवगछिया से 16.38 बजे छूटकर कटिहार 18.20 बजे पहुंचेगी.

यह भी पढ़ें  हिमालय के कलानाग पर्वत पर बिहार के नंदन ने पाई फतह, अब माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई का है सपना