बिहार में पूरी तरह स्थिर हुआ मानसून इसके वजह से बढ़ा गर्मी, वहीँ इन इलाके में होगी बारिश लोगों को मिलेगी राहत

बिहार में कुछ दिनों से बारिश होने का नाम नहीं ले रहा है बता दे कि जिस समय मानसून बिहार में प्रवेश किया था उसके एक दो दिन बाद बिहार के अलग-अलग हिस्से लगभग पुरे बिहार में बारिश शुरू हो गई थी | लेकिन अब बिहार में मॉनसून के रुकने से अधिकतर इलाकों में तपिश बढ़ गई है। गर्मी और उमस से लोग परेशान हैं। राजधानी पटना समेत अन्य शहरों में मंगलवार को बारिश नहीं हुई। मौसम विभाग ने बुधवार को दक्षिण-पश्चिम बिहार और दक्षिण-मध्य बिहार के कुछ इलाकों में बारिश होने के आसार जताए हैं। अन्य इलाकों में मौसम सामान्य रहने की संभावना है।

यह भी पढ़ें  राजधानी पटना में बाईपास की जगह बनेगा 15 KM लंबा एलिवेटेड रोड, नई सड़कों के लिए भूमि अधिग्रहण का मिली मंजूरी

जानकारी के मुताबिक राजधानी पटना मौसम केंद्र के मुताबिक बिहार में अब भी पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी हवाओं का प्रवाह बना हुआ है। मॉनसून की ट्रफ रेखा अभी गुजरात के कुछ इलाकों से ओडिशा होते हुए बंगाल की खाड़ी से गुजर रही है। अगले 24 घंटे के भीतर बिहार के उतरी, दक्षिण-पश्चिमी और दक्षिण-मध्य हिस्से के कुछ इलाकों में हल्की बरसात होने की संभावना है।

बारिश नहीं होने से राज्य में गर्मी का सितम बढ़ रहा है। सहरसा जिले के पुपरी में मंगलवार को सर्वाधिक 38.3 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। अररिया जिले के फारबिसगंज में भी 38.2 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान रहा। राजधानी पटना में अधिकतम तापमान 36.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।

यह भी पढ़ें  बिहार में जारी भीषण गर्मी के बीच 19 जिलों में बारिश का अलर्ट, 44 पार हुआ औरंगाबाद का तापमान

बता दें कि जुलाई महीने की शुरुआत में पूरे राज्य में फैले मॉनसून की रफ्तार पर फिर ब्रेक लगने से किसानों के चेहरे मुरझा गए हैं। राज्य में अब तक सामान्य से कम बारिश हुई है। इससे खेती पर ज्यादा असर पड़ रहा है। किसानों ने धान की रोपाई कर दी है। ऐसे में बिचड़ा को जिंदा रखना बड़ी चुनौती बनी हुई है। पानी नहीं मिलने से खेत सूखते जा रहे हैं।