गांधी मैदान के बदले अब यहाँ से खुलेगी सरकारी बस, पटना का दूसरा ISBT सितंबर तक बनकर होगा तैयार

बिहार के बस यात्रियों के लिए यह बहुत ही जरूरी खबर है. बता दे की परिवहन कॉम्प्लेक्स का निर्माण बीते एक महीने से बहुत तेजी से चल रहा है. सितंबर माह के अंत तक इसके पहले फेज का निर्माण पूरा हो जायेगा. इसमें बनने वाले भवनों में डीटीओ ऑफिस का नया भवन, बीएसआरटीसी मुख्यालय और उसका बस टर्मिनल शामिल हैं. इसके साथ ही परिवहन कॉम्प्लेक्स में इनके शिफ्ट होने की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी और अक्तूबर माह के अंत तक इनके परिवहन कॉम्प्लेक्स में पूरी तरह शिफ्ट हो जाने की संभावना है.

सेंट्रल वर्कशॉप का निर्माण जारी

मीडिया रिपोर्ट की माने तो बीएसआरटीसी और परिवहन विभाग के अधिकारियों और कर्मियों के लिए 42 फ्लैटों का निर्माण भी सितंबर अंत तक पूरा हो जायेगा. इससे यहां काम करने वाले कर्मियों और अधिकारियों को रहने में भी असुविधा नहीं होगी. बीएसआरटीसी के सेंट्रल वर्कशॉप का निर्माण भी चल रहा है, लेकिन यह अक्तूबर अंत तक पूरा होगा. लिहाजा इसके नवंबर से चालू होने की संभावना है.

यह भी पढ़ें  नीतीश कुमार इसी महीने देंगे पटना को दो उपहार, जेपी गंगा पथ व करबिगहिया फ्लाईओवर का होगा उद्घाटन

इलेक्ट्रिक बसों की चार्जिंग के लिए पांच प्वाइंट भी बनाये गये

आपके जानकारी के लिए बता दे की फुलवारी डिपो के पुराने वर्कशॉप की जगह इसका निर्माण हो रहा है. यहां निगम की ऐसी खराब बसों को बनाने का काम होगा, जो डिपो डिवीजन में नहीं बन पाती हैं. साथ ही इलेट्रिक बसों की चार्जिंग के लिए यहां पांच प्वाइंट भी बनाये गये हैं. इलेक्ट्रिक बसों के साथ ही परिवहन कॉम्प्लेक्स को जगदेव पथ के पास बेली रोड से जोड़ने वाला 18 मीटर लंबी सड़क भी अक्तूबर अंत तक तैयार हो जायेगी.

अब सरकारी बसें पकड़ने के लिए जाना होगा फुलवारीशरीफ

खास बात यह है की परिवहन कॉम्प्लेक्स का निर्माण पूरा हाेनेसे न केवल बिस्कोमान भवन सेडीटीओ स्थानांतरित हो जायेगा, बल्कि सुल्तान पैलेस से परिवहन कार्यालय का मुख्यालय भी शिफ्ट करदिया जायेगा. सबसे अधिक फर्क लोगों को बांकीपुर बस डिपो के शिफ्ट होने से होगा. लोगों को बस पकड़ने के लिए गांधी मैदान सरकारी बस स्टैंड के बजाय परिवहन कॉम्प्लेक्स, फुलवारीशरीफ जाना पड़ेगा.

यह भी पढ़ें  बिहार में जल्द भरे जाएंगे ग्राम कचहरी सचिव के 1000 खाली पद, 7000 वर्तमान सचिवों पर बड़ा फैसला