सड़क निर्माण में बिहार ने बनाया रिकॉर्ड, महज 98 घंटे में बन गई 38 Km रोड

बिहार ने एक फिर अपना जलवा दिखाया है. राष्ट्रीय उच्च पथ भारतमाला योजना सड़क निर्माण परियोजना के तहत बिहार के रोहतास जिला में ये रिकॉर्ड बना है. रोहतास के कोचस के पड़रिया से कैमूर जिला के मोहनिया तक मात्र 98 घंटे में 38 किलोमीटर सिंगल लेन सड़क का निर्माण कर बिहार ने ये कीर्तिमान स्थापित किया है. मात्र 99 घंटे से कम समय में युद्ध स्तर पर आधुनिक तकनीक से इस सड़क का निर्माण कार्य पूरा किया गया साथ ही पूरे देश को एक मैसेज देने की कोशिश भी की गई है.

आपके जानकारी के लिए बता दे की कि भारत सरकार के केंद्रीय भू-तल परिवहन विभाग द्वारा पहले ही 105 घंटे में 75 किलोमीटर सड़क बनाने का विश्व रिकॉर्ड है. बिहार आने वाले दिनों में उक्त रिकॉर्ड को ब्रेक करने की ओर अग्रसर है. रोड निर्माण का कार्य करा रहे ‘अशोका बिल्डकॉन लिमिटेड’ कंपनी के प्रोजेक्ट हेड गणेश कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय उच्चपथ संख्या- 319, जिसमें 115 किलोमीटर तक निर्माण का कार्य दो फेज में किया जा रहा है में आरा से कोचस के पड़रिया तक 54 किलोमीटर तथा दूसरा पैकेज फेज में पड़रिया से कैमूर के मोहनिया तक 115 किलोमीटर का निर्माण शामिल है.

यह भी पढ़ें  विश्व बैंक की टीम करेगी बिहार की सड़कों का निरीक्षण, गड़बड़ी मिली तो होगी कार्रवाई

खास बात यह है की तारकोल से कालीकरण के सड़क निर्माण कार्य का एक तरह का पूरे देश में अपना अलग रिकॉर्ड है जो मात्र 98 घंटे में 38 किलोमीटर लंबी कालीकरण पीच सड़क का निर्माण हुआ है. विभागीय अधिकारियों के निरीक्षण के बाद आने वाले अक्टूबर-नवंबर तक बिहार एक नया रिकॉर्ड बनाने की ओर अग्रसर होगा, जिस पर लगातार काम चल रहा है.