बिहार के नौ रेलवे स्टेशनों को बनाया जायेगा विश्वस्तरीय, राजेंद्र नगर टर्मिनल पर एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं

बिहार के रेल यात्रियों को अब यात्रा करने में और भी आसानी होगी. धार्मिक एवं पर्यटन दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण गया जंक्शन को विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने का काम 2024 तक पूरा होगा. स्टेशन के पुनर्विकास पर 300 करोड़ खर्च होंगे. इसके लिए टेंडर जारी हुआ है. इसके साथ ही पूर्व मध्य रेल के 12 स्टेशनों पर एयरपोर्ट वाली सुविधाएं यात्रियों को मिले, इसके लिए पुनर्विकास का काम होना है. पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी वीरेंद्र कुमार ने बताया कि स्टेशन पुनर्विकास परियोजना के तहत विश्वस्तरीय स्टेशन के रूप में विकसित करने के लिए पूर्व मध्य रेल में 12 स्टेशनों का चयन हुआ है.

पूर्व मध्य रेल में 12 स्टेशनों का हुआ चयन

आपके जानकारी के लिए बता दे की दानापुर मंडल के राजेंद्रनगर व बक्सर, सोनपुर मंडल के मुजफ्फरपुर, बेगूसराय व बरौनी, समस्तीपुर मंडल के दरभंगा, सीतामढ़ी व बापूधाम मोतिहारी, पं. दीन दयाल उपाध्याय मंडल के गया व पं. दीन दयाल उपाध्याय जं, धनबाद मंडल के धनबाद व सिंगरौली स्टेशन को विकसित करने की योजना है. इन स्टेशनों के पुनर्विकास की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है.

ये मिलेंगी सुविधाएं

बताया जा रहा है की योजना के तहत स्टेशन को विश्वस्तरीय रूप देते हुए स्टेशनों को ग्रीन बिल्डिंग का रूप दिया जायेगा. यात्रियों की सुविधा के लिए कंट्रोल गेट व प्रत्येक प्लेटफाॅर्म पर एस्केलेटर व लिफ्ट लगेंगे. आवश्यक सुविधाओं में खान-पान, वाशरूम, पीने का पानी, एटीएम, इंटरनेट आदि सुविधा रहेगी. इससे आम यात्रियों के साथ वरिष्ठ नागरिक विशेष रूप से लाभान्वित होंगे.