बिहार में रद्द किए जा रहे हैं राशन कार्ड, चेक कर लें, कहीं लिस्ट में आपका नाम तो नहीं

अभी के समय में राशन कार्ड एक आवश्यक दस्तावेज है जिससे सभी को राशन तो मिलता है लेकिन वह एक अलग पहचान दिलाता है वह पहचान पत्र के रूप में काम करता है नागरिक को एक अलग पहचान दिलाता है. गया जिले के शेरघाटी में 12 हजार से ज्यादा संदिग्ध राशनकार्डों की पहचान कर इन्हें रद्द करने की कार्रवाई शुरु की गई है। राशनकार्डों को रद्द किए जाने के पहले राशन कार्डधारियों से नोटिस भेज कर जवाब मांगे गए हैं।

बताया जा रहा है की चिंहित किए गए ज्यादातर राशनकार्ड ऐसे हैं, जिनपर छह महीने या उससे अधिक समय से राशन का उठाव नहीं किया जा रहा है। चरणवार की जा रही कार्रवाई में अबतक शेरघाटी अनुमंडल के विभिन्न प्रखंडों में 12 हजार 608 राशन कार्डधारियों को नोटिसें भेजी गई हैं। शेरघाटी के एसडीओ अनिल कुमार रमण ने यह जानकारी दी। शेरघाटी अनुमंडल में 2 लाख 27 हजार राशनकार्डधारी परिवार हैं।

यह भी पढ़ें  केंद्र सरकार ने बिहार को दिए 1152 करोड़ रुपये, गांवों का होगा विकास, जानें कहां होंगे खर्च

आपको बता दे की एसडीओ ने बताया कि कार्डधारी परिवारों को दी गई नोटिस का जवाब आ जाने और स्थानीय स्तर पर की गई छानबीन के बाद अबतक समूचे अनुमंडल में अपात्र पाए गए 1374 परिवारों के राशन कार्ड रद्द भी किए जा चुके हैं। एसडीओ का कहना है कि तीन कमरों से ज्यादा के पक्के मकान वाले लोगों, खेत-जमीन और ट्रेक्टर-ट्रक तथा कार-बाइक के मालिकों या फिर सरकारी नौकरी करने वाले लोगों के राशन कार्ड रद्द किए जा रहे हैं।

शेरघाटी अनुमंडल में रद्द किए गए राशन कार्ड
स्थान- कार्डों की संख्या
शेरघाटी प्रखंड- 626
शेरघाटी शहर- 145
डुमरिया- 356
इमामगंज- 00

यह भी पढ़ें  बिहार को टेक्सटाइल हब बनाने की तैयारी: उद्योग लगाने पर पूंजी, मजदूरी, बिजली व भाड़ा में मिलेगी आर्थिक मदद