क्‍या आपने बिना मिट्टी की खेती देखी है? बिहार में वर्षों से किया जा रहा है यह अनोखा काम

अक्सर आपने लोगो को मिट्टी से पौधे उगाते देखें होंगे लेकिन क्‍या आपने कभी बिना मिट्टी के पेड़-पौधों को उगता देखा है? या क्‍या आपने बिना मिट्टी की हरियाली देखी है? अगर नहीं तो आज आपको हम एक ऐसे किसान के बारे में बताने जा रहे हैं जो बिना मिट्टी के पेड़-पौधे उगा रहे हैं. साथ ही पटना जैसे शहर में नई तकनीक के सहारे हरियाली को बनाए रखने में छोटा सा अंशदान भी कर रहे हैं.

बताया जा रहा है की इस तकनीक से तमाम शहरवासी पेड़-पौधे उगाने लगेंगे तो पर्यावरण को काफी हद तक संतुलित रखने में मदद मिल सकती है. बिना मिट्टी के खेती करने की तकनीक को हाइड्रोपोनिक कहते हैं. इसमें पानी की जरूरत पड़ती है. पटना के एक शहरी ने इस तकनीक की मदद से छोटा-मोटा गार्डन तैयार कर लिया है.

यह भी पढ़ें  बिहार के बिजली उपभोक्‍ता ध्‍यान दें, स्‍मार्ट मीटर रिचार्ज कराने के बारे में कंपनी ने बताई अहम बात

आपके जानकारी के लिए बता दे की ब‍िना मिट्टी के पौधे उगाने वाले इस शहरी का नाम है मोहम्‍मद जावेद. जावेद बिहार की राजधानी पटना के कंकड़बाग कॉलोनी के निवासी हैं. वह कई वर्षों से बिना मिट्टी के पौधों को उगाने का सफल काम कर रहे हैं. इसके लिए जावेद अपने घर को ही गार्डन बना चुके हैं. वह हाइड्रोपोनिक विधि से पौधे उगा रहे हैं. बता दें कि हाइड्रोपोनिक को हिंदी में जलकृषि भी कहते हैं. इस विधि से बिना मिट्टी के पौधा बढ़ता है. पानी में घुले खनिज और पोषक तत्वों से पौधों का विकास होता है.