बिहार में प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति के लिए काउंसेलिंग एक जुलाई से, जानें इस दिन बांटे जाएंगे नियुक्ति पत्र

बिहार में सरकारी नौकरी (Bihar Teacher Salary) की दूसरे राज्यों से कुछ ज्यादा ही क्रेज है। लोगों को ख्वाहिश होती है, नौकरी चाहे जैसी भी हो, सरकारी होनी चाहिए। इसके चक्कर में इंजीनियर भी फोर्थ ग्रेड इम्पलाई (Fourth Grade Employee) बनने के लिए फॉर्म भरते रहते हैं। बता दे की बिहार में छठे चरण के प्राथमिक शिक्षक नियोजन से जुड़ी उन नियोजन इकाइयों में एक, दो और चार जुलाई को काउंसेलिंग होने जा रही है, जहां विभिन्न वजहों से अभी तक काउंसेलिंग नहीं हो सकी थी.

खास बात यह है की काउंसेलिंग के बाद 18 जुलाई से 22 जुलाई तक चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र बांटे जायेंगे. शिक्षा विभाग ने इस संदर्भ में रविवार को काउंसेलिंग शेड्यूल जारी कर दिया है. विभागीय अधिसूचना के मुताबिक प्रखंड नियोजन इकाइयों के लिए जिला मुख्यालय पर काउंसेलिंग एक जुलाई को होगी. यह काउंसेलिंग कक्षा छह से आठ वीं वर्ग के शिक्षक पद के लिए होगी. दो जुलाई को प्रखंड स्तरीय नियोजन इकाइयों के लिए जिला स्तर पर काउंसेलिंग होगी.

रिक्त शिक्षक पदों के लिए होगी काउंसेलिंग

आपको बता दे की यह काउंसेलिंग कक्षा एक से पांच वीं तक के रिक्त शिक्षक पदों के लिए होगी. इसके अलावा चार जुलाई को प्रखंड मुख्यालयों में पंचायत स्तरीय नियोजन इकाइयों के लिए काउंसेलिंग होनी है. यह काउंसेलिंग भी कक्षा एक से पांच तक के रिक्त पदों के लिए होगी. शिक्षा विभाग की अधिसूचना के मुताबिक अब तक काउंसेलिंग प्रक्रिया पूरी न करने वाली नियोजन इकाइयों को काउंसेलिंग के लिए मेधा सूची 18 जून तक एनआइसी की वेबसाइट पर अपलोड करनी होगी.

चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज चेक किये जायेंगे

खबरों की माने तो इन नियोजन इकाइयों को मेधा सूची पर आपत्ति के निराकरण के बाद 25 जून तक अंतिम मेधा सूची जारी करनी होगी. अधिसूचना में नियोजन इकाइयों के लिए काउंसेलिंग कराने का यह अंतिम मौका दिया गया है. अगर नियोजन इकाइयां काउंसेलिंग नहीं कराती हैं तो उनके खिलाफ विधि संगत कार्यवाही की चेतावनी भी दी है. अधिसूचना के मुताबिक काउंसेलिंग के बाद चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज चेक किये जायेंगे.