बिहार में यह ट्रेन नहीं बल्कि अस्पताल है, जांच से लेकर ऑपरेशन तक मुफ्त, ठहरने व भोजन का भी फ्री इंतजाम

साथियों आपने अस्पताल तो बहुत सारे देखे होंगे. लेकिन दुनिया का पहला एवं भारत का इकलौता चलता फिरता रेल अस्पताल 222वां लाइफ लाइन एक्सप्रेस प्रोजेक्ट कटिहार के बारसोई जंक्शन पहुंचा. जिसका शुभारंभ सांसद दुलाल चंद्र गोस्वामी ने फीता काटकर किया.

विश्व का पहला एवं भारत का एकलौता रेल अस्पताल

बताया जा रहा है की इस मौके पर रेलवे कटिहार डिवीजन के एडीआरएम के चौधरी, बारसोई के एसडीओ राजेश्वरी पांडे भी उपस्थित रहे. लाइफ लाइन एक्सप्रेस प्रोजेक्ट का शुभारंभ करते हुए सांसद ने कहा कि इंपैक्ट इंडिया फाउंडेशन के द्वारा संचालित लाइफ लाइन एक्सप्रेस विश्व का पहला एवं भारत का एकलौता रेल अस्पताल है. जिसे इस बार बारसोई अनुमंडल वासियों की सुविधा के लिए बारसोई जंक्शन में लगाया गया है.

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : महात्मा गांधी सेतु का सुपर स्ट्रक्चर बन कर तैयार, इस दिन सेतु के दोनों लेन होंगे चालू

विशेषज्ञ चिकित्सक के द्वारा जांच एवं ऑपरेशन

आपको बता दे की इसको लेकर सांसद ने कहा कि यहां मुंबई, बैंगलोर आदि के विशेषज्ञ चिकित्सक के द्वारा जांच एवं ऑपरेशन मुफ्त में की जायेगी. इंपैक्ट इंडिया फाउंडेशन के प्रोजेक्ट मैनेजर पुनीत शर्मा ने कार्यक्रम के बारे में बताया कि इसमें पहले उच्च विद्यालय बारसोई घाट में लगे शिविर में मरीजों की जांच करायी जायेगी. वहां से लोगों के आवश्यकता के अनुसार दवा, चश्मा अथवा ऑपरेशन की सलाह दी जायेगी.

रहने खाने आदि की व्यवस्था मुफ्त

आपके जानकारी के लिए बता दे की दवा व चश्मा शिविर में ही दे दिया जायेगा. जबकि ऑपरेशन बारसोई जंक्शन में लगे चलता फिरता रेल अस्पताल में विशेषज्ञ चिकित्सक के द्वारा किया जायेगा. जहां उनके रहने खाने आदि की व्यवस्था मुफ्त में की गयी है.

यह भी पढ़ें  भागलपुर एयरपोर्ट से शुरू होगी विमान सेवा, 3 मई को राइप एयरलायंस करेगा ट्रायल, इन शहरों की मिलेगी फ्लाइट