बिहार के भागलपुर होकर मुंगेर से मिर्जाचौकी के बीच बन रही फोरलेन सड़क से झारखंड जाना होगा आसान

बिहार में जाम की समस्या को देखते हुए राज्य सरकार ने एक बहुत ही अच्छा कदम उठाई है. बिहार में 10 हजार करोड़ की सड़क व पुल परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ. इसके साथ ही इन परियोजनाओं का निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा. उत्तर व दक्षिण बिहार को जोड़ने वाले गांधी सेतु की पुर्वी लेन के उद्घाटन के अलावे मुंगेर-भागलपुर-मिर्जाचौकी फोरलेन ग्रीनफील्ड कॉरिडोर के निर्माण का भी शुभारंभ केंद्रीय सड़क एवं राजमार्ग परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में किया.

वर्तमान मुंगेर-भागलपुर मिर्जाचौकी नेशनल हाइवे का काम

बताया जा रहा है की मुंगेर-भागलपुर-मिर्जाचौकी फोरलेन ग्रीनफील्ड कॉरिडोर के निर्माण कार्य शुरू होने का इंतजार सबको बेसब्री से है. यह सड़क 124 किलोमीटर लंबी है और चार पैकेज में इसका निर्माण होना है. 5788 करोड़ की लागत से ये बनना है. वहीं मंत्री ने एक और योजना का शिलान्यास किया जो वर्तमान मुंगेर-भागलपुर मिर्जाचौकी नेशनल हाइवे 80(एनएच 80) है. 108 किलोमीटर के इस सड़क परियोजना में 1044 करोड़ खर्च किये जाएंगे. ये सड़क अब दो लेन की बनेगी. इसका चौड़ीकरण और पीक्यूसी मोड पर मरम्मत होना है.

यह भी पढ़ें  Bihar Weather : बिहार में और फैलेगा मानसून का दायरा, कुछ जगहों पर मूसलाधार बारिश का पूर्वानुमान

भागलपुर के रास्ते बंगाल और झारखंड आना-जाना आसान होगा

आपको बता दे की नेशनल हाइवे की इन दो परियोजनाओं के पूरा हो जाने के बाद भागलपुर के रास्ते बंगाल और झारखंड आना-जाना आसान हो जाएगा. मुंगेर-भागलपुर-मिर्जाचौकी फोरलेन ग्रीनफील्ड कॉरिडोर चार पैकेज में तैयार होना है.चारो का टेंडर हो चुका है. इस परियोजना को 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. इस सड़क के तैयार हो जाने से गाड़ियां तेज रफ्तार में चलेगी और जाम की समस्या से मुक्ति मिलेगी. झारखंड और बंगाल से अंतरराज्यीय परिवहन सेवा भी शुरू हो सकेगी.