पटना में बनेगा मल्टीलेयर जंक्शन, आठ जिलों में 15 आरओबी को मंजूरी, जुलाई में होगा 12 हजार करोड़ का टेंडर

बिहार वासियों को अक्सर जाम की समस्या से गुजरना पड़ता है. इसी बीच केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को नयी दिल्ली में बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन के साथ हुई बैठक में बिहार के आठ जिलों में 1175.79 करोड़ रुपये की लागत वाली 15 आरओबी बनाने की मंजूरी दी. इसमें राज्यांश 669.29 करोड़ रुपये है. इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने राज्य के प्रस्तावित 12 एसएच को एनएच में परिवर्तित करने, गोरखपुर से सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे के अलाइनमेंट में संशोधन, पटना के पहाड़ी में मल्टीलेयर जंक्शन, अनिसाबाद-कच्ची दरगाह एलिवेटेड बनाने सहित अन्य सड़क और पुल परियोजनाओं पर विचार करने का आश्वासन दिया है.

आपको बता दे की पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने केंद्रीय मंत्री गडकरी के साथ बैठक में नौ एजेंडों के माध्यम से बिहार की सड़क और पुल परियोजनाओं का प्रस्ताव रखा था. पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने केंद्रीय मंत्री के समक्ष प्रस्ताव रखा कि गोरखपुर से सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे इस्ट-वेस्ट कॉरिडोर के समानांतर जा रहा है. इसके अलाइनमेंट में परिवर्तन करने से सहरसा और मधेपुरा जुड़ सकते हैं. इस पर केंद्रीय मंत्री ने विचार का आश्वासन दिया.

पहाड़ी पर बनेगा मल्टी लेयर जंक्शन

खास बात यह है की बिहार सरकार ने महात्मा गांधी सेतु के नये फोरलेन पुल को बन जाने के बाद इसके आठ लेन सहित एनएच-30, एनएच-19 और एसएच-101 की ट्रैफिक को संभालने के लिए पटना में पहाड़ी के पास मल्टीलेयर जंक्शन का प्रस्ताव दिया है. इस पर केंद्रीय मंत्री ने विचार का आश्वासन दिया. वहीं एनएच-30 पर जाम से मुक्ति के लिए अनीसाबाद से कच्ची दरगाह तक 15 किमी एलिवेटेड सड़क बनाने के प्रस्ताव पर केंद्रीय मंत्री ने एनएचएआइ को टीम भेजकर रिपोर्ट मंगवाने का निर्देश दिया.