लालू यादव के यहां से आया बुलावा तो डर गई थीं मुन्नी देवी, टिकट मिलते ही JDU-BJP के खिलाफ खोला मोर्चा

बिहार की राजनीतिक गलियारों से एक नया चेहरा सामने आया है. बता दे की आरजेडी (RJD) ने सोमवार को तीन एमएलसी उम्मीदवारों (RJD MLC Candidate) के नाम की घोषणा की. युवा आरजेडी के अध्यक्ष मोहम्मद कारी सोहैब, महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश महासचिव मुन्नी देवी (RJD Munni Devi) और अशोक कुमार पांडेय (Ashok Kumar Pandey) को अपना उम्मीदवार बनाया है. इधर तीनों उम्मीदवारों में सबसे अधिक चर्चा मुन्नी देवी की हो रही है. इस बीच उम्मीदवार बनाए जाने के बाद मुन्नी देवी ने जेडीयू और बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

खास बात यह है की मीडिया से बात करते हुए मुन्नी देवी ने कहा कि लालू यादव गरीबों के मसीहा है. बीजेपी और जेडीयू वाले कहते हैं परिवारवाद लेकिन आज देखिए. लोग हमको देखकर हंसते थे. सत्ता पक्ष के लोग से हम कभी नहीं घबराए. आरजेडी के जो भी कार्यकर्ता हैं वो मजबूत हैं लेकिन बीजेपी या जेडीयू के नहीं हैं. हमलोग टूटने वाले नहीं हैं.

खुशी से मैं कमजोर हो गई थी: मुन्नी देवी

आपको बता दे की मुन्नी देवी ने अपनी खुशी का इजहार करते हुए कहा कि मैं खुशी से कमजोर हो रही हूं. मेरे पास फोन भी नहीं था. मेरे पास कुछ लोगों को भेजा गया. मुझे लगा कि आज सोमवारी अमावस्या है तो माताजी की होंगी तो गिफ्ट देंगी. जीवन में ऐसा गिफ्ट नहीं मिला. मैं कपड़ा धोती हूं. लोग जानते हैं. सभी महिलाओं को मैं समझाती हूं. संगठन के लिए काम करती हूं.