बिहार में पॉलिटेक्निक या इंजीनियरिंग करने वाला नहीं रहेगा बेरोजगार, जानिये क्या है प्लान?

बिहार में नौकरी की चाह रखने वालो के लिए बहुत ही अच्छी खबर है. बता दे की बिहार (Bihar) के अलग-अलग सरकारी इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों (Employment For polytechnic or engineering in Bihar) में टोटल 5504 विद्यार्थियों को कैंपस सिलेक्शन के माध्यम से विभिन्न कंपनियों में नौकरी (Job Offer For polytechnic or engineering Student) के लिए पेशकश की है।

जानकारों की माने तो पिछले साल के मुकाबले कैंपस प्लेसमेंट (Campus Placement) में 4 गुना से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है। जिन लोगों को नौकरी का ऑफर (Job Offer In Bihar) मिला है, उनमें से इंजीनियरिंग के 1950 छात्र है जबकि अलग-अलग सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेजों के 3554 छात्र हैं।

यह भी पढ़ें  पटना मेट्रो के कॉरिडोर-2 पर पहले बनेंगे अंडरग्राउंड स्टेशन, फिर रूट लाइन, काम शुरू

आपको बता दे की विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के मंत्री सुमित कुमार सिंह ने इस सफलता के लिए सभी छात्रों को शुभकामनाएं दी है और कॉलेज के साथ ही छात्रों को प्लेसमेंट में सहयोग करने के लिए विभाग के लोगों को हर संभव मदद करने का आदेश दिया है। डिपार्ट के सचिव लोकेश कुमार का कहना है कि एक इंजीनियरिंग ग्रेजुएट को मैक्सिमम 30 लाख रूपए का जॉब ऑफर मिला है। 96 छात्रों को 10 लाख रुपए का सालाना पैकेज BYJU’S ने दिया है। जबकि, इंजीनियरिंग स्नातकों के लिए एवरेज 3.5 लाख रुपए का सालाना पैकेज मिला था।

बताया जा रहा है की पॉलिटेक्निक कॉलेज के छात्रों को अधिकतम 4.8 रुपए का पैकेज ऑफर किया गया। लोकेश कुमार सिंह बताते हैं कि तीन तरीके से छात्रों का कैंपस सिलेक्शन किया जाता है। विभागीय स्तर पर पूल केंपस प्लेसमेंट, नियोक्ता संगठन के द्वारा ऑफ केंपस प्लेसमेंट ड्राइव और किसी स्पेशल कॉलेज के लिए केंपस प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन किया जाता है। उन्होंने बताया कि सबसे ज्यादा दरभंगा और भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों का केंपस सिलेक्शन हुआ है।

यह भी पढ़ें  बिहार के सात शहरों में लू का असर, पूर्वी भाग में होगी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया येलो अलर्ट