NDA में जारी रार व नीतीश-तेजस्वी की नजदीकियों के बीच लालू पहुंचे पटना, बड़ा सवाल- क्या ‘खेला’ होगा?

बिहार की राजनीती में इन दिनों राज्यसभा चुनाव की चर्चा काफी हो रही है. इसी बीच चारा घोटाले मामले में जमानत मिलने के बाद आरजेडी (RJD) सुप्रीमो लालू यादव (Lalu Yadav) बुधवार को पहली बार पटना पहुंचे. उनके स्वागत के लिए पटना एयरपोर्ट पर भारी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे. इस दौरान समर्थक लालू यादव जिंदाबाद के नारे भी लगा रहे थे. इधर, सियासी गलियारों में लालू के आने से पहले ही चर्चाओं का बाजार गर्म है.

आपको बता दे की लालू यादव ऐसे समय में पटना आए हैं जब राज्यसभा चुनाव होने है. आरजेडी उम्मीदवार कौन होगा, इसपर भी लालू को ही फैसला लेना है. बताया जा रहा है कि पार्टी की मजबूती के लिए वो जल्द ही आरजेडी के नेताओं के साथ बैठक करेंगे. वहीं, जातीय जनगणना को लेकर भी सरकार के फैसले पर लालू प्रसाद की नजर रहेगी. ऐसे में आरजेडी सुप्रीमो के बिहार लौटने को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं.

जातीय जनगणना पर होने वाले सर्वदलीय बैठक में शामिल होगी बीजेपी : जैसा की हम सब जानते है की बिहार में एनडीए की सरकार है, जिसके दो बड़े घटक दल जडीयू और बीजेपी कई मुद्दों पर अलग-अलग राय है. जातीय जनगणना, बिहार को विशेष राज्य का दर्जा, शराबबंदी, यूनिफॉर्म सिविल कोड सहित कई मुद्दों पर दोनों दलों में तकरार खुलकर सामने आ चुके हैं. वहीं, एक जून को सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में होने वाले जातीय जनगणना पर सर्वदलीय बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में अब बीजेपी भी शामिल होगी. इसकी जानकारी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने खुद दी है. हालांकि, बीजेपी जातीय जनगणना के पक्ष में शुरू से नहीं है.