अगले साल तक बनकर तैयार हो जाएगा बिहार में एक और नेशनल हाईवे सफ़र होगा सुहाना

बिहार में इन दिनों सड़क निर्माण पर सबसे अधिक पैसा खर्च होने वाले है | जानकारों की माने तो इसमें केंद्र सरकार का भी बहुत बड़ा योगदान होने वाला है | बता दे कि बिहार में अभी कई हाईवे सड़क निर्माण कार्य के लिए अलग-अलग जगहों पर काम चल रहा है | उम्मीद है कि अगले साल 2023 मार्च तक एक नेशनल हाईवे का सौगात बिहार को मिल सकता है |

आपको बता दे की महेशखूंट- सहरसा- पूर्णिया दो लेन का नेशनल हाईवे- 107 के निर्माण की समय सीमा मार्च 2023 तय की गई है। लेकिन अभी इसका निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं किया गया है | फिलहाल मधेपुरा से पूर्णिया के बीच करीब 87.96 किलोमीटर लंबी सड़क में से 32 किलोमीटर नहीं निर्माण कार्य हो सका है। इस सड़क के बनने के बाद 4 जिलों को सीधा फायदा होगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने साल 2017 में किये थे शिलान्यास : बताया जा रहा है की इस सड़क का शिलान्यास भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साल 2017 में शिलान्यास किये थे | और इसका निर्माण कार्य दो चरण में पूरा होना था बता दे कि पहले चरण में मधेपुरा से पूर्णिया के बीच करीब 87.96 किलोमीटर लम्बाई में दो लेन सड़क निर्माण के लिए 736 करोड़ रुपए की लागत का अनुमान था। इसकी जिम्मेदारी गैमन इंडिया को दी गई थी वही दूसरे चरण में मधेपुरा से महेशखूंट तक करीब 90 किलोमीटर लंबाई में सड़क निर्माण के लिए 644 करोड की लागत का अनुमान था |