बिहार में जल्द भरे जाएंगे ग्राम कचहरी सचिव के 1000 खाली पद, 7000 वर्तमान सचिवों पर बड़ा फैसला

सरकारी नौकरी लोगों को ख्वाहिश होती है, नौकरी चाहे जैसी भी हो, सरकारी होनी चाहिए। इसके चक्कर में इंजीनियर भी फोर्थ ग्रेड इम्पलाई (Fourth Grade Employee) बनने के लिए फॉर्म भरते रहते हैं. इसी बीच बिहार में ग्राम कचहरी सचिव के 1000 से अधिक खाली पड़े पदों पर सरकार ने जल्द नियोजन किए जाने का फैसला लिया है. साथ ही ग्राम कचहरी में काम कर रहे करीब 7000 सचिवों की सेवा अवधि विस्तारित कर दी गई है. पंचायती राज विभाग ने शनिवार को इससे संबंधित आदेश जारी कर दिया है. बिहार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि विभाग के फैसले से सभी जिलाधिकारियों और जिला पंचायती राज पदाधिकारियों को कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है.

मीडिया रिपोर्ट की माने तो पंचायत चुनाव के बाद सभी ग्राम कचहरियों का गठन नए सिरे से कर दिया गया है. इनमें पहले से कार्यरत सचिव ही आगे अपना दायित्व निभाएंगे. मंत्री सम्राट चौधरी ने बताया कि जिन ग्राम कचहरी में सचिव का पद खाली है वहां बिहार ग्राम कचहरी सचिव नियोजन सेवा शर्त एवं कर्तव्य नियमावली 2014 के प्रावधानों के अनुसार नये सिरे से नियोजन किया जाएगा.

आपको बता दे की बिहार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने इस बात की भी जानकारी दी कि किसी पंचायत क्षेत्र के नगर पालिका में जाने के कारण जिन ग्राम कचहरियों का अस्तित्व समाप्त हो गया है, ऐसे ग्राम कचहरी में पदस्थापित सचिवों की कार्य अवधि समाप्त मान ली जाएगी. ऐसे व्यक्तियों को नए नियोजन के समय पहले कार्य अनुभव के आधार पर वेटेज का लाभ अवश्य दिया जाएगा. ग्राम कचहरी सचिव को 6 हजार महीना सरकार फिलहाल दे रही है.