बिहार के इस शहर को मिली नई कंक्रीट हवाई पट्टी, हर मौसम में प्रशिक्षण ले सकेंगे पायलट

बिहार वासियों के लिए यह बहुत ही गौरव की बात है की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) गया को नई कंक्रीट हवाई पट्टी मिल गयी है. ओटीए के कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मिन्हास ने 12 मई, 2022 को इसका उद्घाटन किया. नवनिर्मित कंक्रीट हवाई पट्टी सभी मौसम में टेकऑफ और लैंडिंग की सुविधा प्रदान करेगी. नई हवाई पट्टी पायलटों और विमानों के लिए अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करेगी. भारतीय सेना का एक प्रमुख सहायक उड़ान प्रशिक्षण प्रतिष्ठान आर्मी एडवेंचर नोडल सेंटर माइक्रोलाइट ओटीए गया में है.

आपको बता दे की इससे पहले माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट तत्कालिक लैंडिंग ग्राउंड पर टेकऑफ और लैंड करते थे, जो एयरक्राफ्ट और पायलट के लिए काफी जोखिम भरा होता था. साथ ही हवाई पट्टी मानसून और खराब मौसम के दौरान पायलटों के प्रशिक्षण में भी बाधा उत्पन्न करती थी. अब नई हवाई पट्टी पूरे साल प्रशिक्षण भी सुनिश्चित करेगा.

यह भी पढ़ें  Exit Poll: उतर प्रदेश का गणित देखते ही बोले BJP विधायक- बिहार में भी अपनाओ योगी मॉडल

खास बात यह है की ओटीए गया में आर्मी एडवेंचर नोडल सेंटर माइक्रोलाइट भारतीय सेना का एक प्रमुख सहायक उड़ान प्रशिक्षण प्रतिष्ठान है. नोड ने हाल ही में अपनी स्थापना की रजत जयंती मनायी है. इस दौरान करीब ढाई हजार कर्मियों को प्रशिक्षित किया है. यह उन दो नोड्स में से एक है, जो भारतीय सेना के सभी रैंकों को माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट उड़ाने का प्रशिक्षण प्रदान करता है. इसका दूसरा केंद्र महू इंदौर में स्थित है.