बिहार में होमगार्ड जवान की होगी पुलिस कमांडो की तरह ट्रेनिंग, 2 हजार 700 जवानों को दिया जा रहा प्रशिक्षण

सरकारी नौकरी लोगों को ख्वाहिश होती है, नौकरी चाहे जैसी भी हो, सरकारी होनी चाहिए। इसके चक्कर में इंजीनियर भी फोर्थ ग्रेड इम्पलाई (Fourth Grade Employee) बनने के लिए फॉर्म भरते रहते हैं. बता दे की बिहार में होमगार्ड की ट्रेनिंग अब पुलिस के जवानों की ही तरह की जाएगी। इनकी ट्रेनिंग स्टेट कमांडो की तरह होगी। इसमें गोरिल्ला वार टेक्निक, पाइप प्रैक्टिस, रोप क्लाइमिंग जैसे कई विशेष तरीके शामिल होंगे। इन्हें इस तरह की विशेष ट्रेनिंग देने के लिए सेना के रिटायर्ड 20 सूबेदारों को बुलाया गया है। इन जवानों को यह खास तरह की ट्रेनिंग बिहटा स्थित होमगार्ड के ट्रेनिंग सेंटर में इसके लिए विशेष तौर पर की गई है।

आपको बता दे की यह ट्रेनिंग पांच चरणों में दी जाएगीऔर सभी में अलग-अलग टेकनीक सिखाये जायेंगे। इस तरह की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद होमगार्ड के जवानों को विशेष स्थानों की सुरक्षा के अलावा विशेष कार्यक्रमों में भी तैनात किया जाएगा। बिहार होमगार्ड के जवानों को आर्मी के पूर्व पदाधिकारियों से ट्रेनिंग दिलाने वाला देश का पहला राज्य बना है। राज्य में दो हजार 700 होमगार्ड के जवान ट्रेनिंग ले रहे हैं। उन्हें भी इसी तरह विशेष ट्रेनिंग दी जायेगी।

खास बात यह है की इस मामले में समादेष्टा चंदन कुशवाहा ने बताया कि आने वाले दिनों में होमगार्ड में आठ हजार जवानों की बहाली होगी। इस तरह की ट्रेनिंग लेने के बाद होमगार्ड के जवान भी पूरी तरह से तैयार और मजबूत हौसलों के साथ ड्यूटी करेंगे। जिसके बाद होमगार्ड के जवानों को लेकर पहले वाली छवि बदल जाएगी।