सातवें चरण में बिहार के हाइ व प्लस टू स्कूलों में 83 हजार से अधिक शिक्षक होंगे नियुक्त, जानें प्रक्रिया

सरकारी नौकरी लोगों को ख्वाहिश होती है, नौकरी चाहे जैसी भी हो, सरकारी होनी चाहिए। इसके चक्कर में इंजीनियर भी फोर्थ ग्रेड इम्पलाई (Fourth Grade Employee) बनने के लिए फॉर्म भरते रहते हैं. बता दे की बिहार सरकार ने बंपर शिक्षकों की बहाली करने जा रही है, जिससे बिहार के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी दूर हो जाएगी. प्रस्तावित सातवें चरण में माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में 83 हजार 277 से अधिक रिक्तियां हैं. इनमें सबसे अधिक 49 हजार 361 रिक्तियां 6421 उच्च माध्यमिक स्कूलों के लिए होंगी. माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में नियुक्तियों के लिए नियमावली तैयार की जा रही है.

यह भी पढ़ें  बिहार के इन 18 जिलों में 822 करोड़ रुपये से बनेंगे सड़क और पुल

प्रति स्कूल में छह-छह शिक्षक होंगे : खबरों की माने तो माध्यमिक स्कूलों में 33 हजार 916 पद रिक्त हैं. 5425 माध्यमिक स्कूलों में प्रति स्कूल छह-छह शिक्षकों की नियुक्ति की जानी हैं. ये शिक्षक हिंदी, अंग्रेजी, विज्ञान, गणित और सामाजिक विज्ञान के होंगे. साथ ही उर्दू ,संस्कृत आदि के लिए 5791 और कंप्यूटर शिक्षक के लिए एक हजार पदों पर नियुक्त होनी है. ये पद इस चरण के लिए सृजित हुए हैं.

नियुक्ति की प्रक्रिया : बताया जा रहा है की छठे चरण में कंप्यूटर व कॉमर्स में जितनी रिक्तियां हैं, उतने पात्र अभ्यर्थी ही नहीं हैं. सिर्फ 2012 के एसटीइटी में उत्तीर्ण कुछ ही लोग हैं. छठे चरण मेें उर्दू और एकाउंट विषय की जो भी रिक्तियां हैं, उनमें बैकलॉग हैं. माध्यमिक और उच्च माध्यमिक में जितने भी पद खाली रह जायेंगे, उतने पद सातवें चरण में समाहित किये जाने हैं. फिलहाल सातवें चरण की नियुक्ति की प्रक्रिया तभी शुरू होगी, जब चल रही छठे चरण की प्रक्रिया खत्म होगी.

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : राजधानी पटना में महावीर मंदिर खोलेगा अस्पताल, जाने कहां खुलेगा यह अस्पताल