ऐसे ही नहीं हर सरकारी नौकरी छीन लेते हैं बिहारी, बीपीएससी परीक्षा से ठीक पहले की येे तस्‍वीरें देखिए

बिहार लोक सेवा आयोग की इम्तिहान को अपने आप में सबसे कठिन और कड़ा इम्तिहान माना जाता है | असंभव की भी एक न एक दिन शुरुआत करनी ही पड़ती है | और जब उसे सफलता मिलती है तो वही शख्स आने वाले पीढ़ी के लिए मार्ग दर्शन का कारण बनते हैं | ये टॉप रैंकर्स कैसे बनते हैं, इसका फिक्स फार्मूला तो अब तक किसी को नहीं मिला लेकिन बिहार की धरती इन टॉपर्स को पैदा करने में आज भी दूसरे नंबर पर है।

सवा पांच लाख उम्‍मीदवार आ सकते हैं परीक्षा में : आपको बता दे की बिहार लोक सेवा आयोग के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि इस परीक्षा के लिए 6,02,221 अभ्यर्थियों ने आनलाइन आवेदन किया है। पटना में 83 परीक्षा केंद्रों पर 55,710 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा के लिए शनिवार तक लगभग पांच लाख 20 हजार अभ्यर्थियों ने आनलाइन प्रवेश पत्र डाउनलोड किए हैं। पहली बार रिकार्ड आवेदन आयोग को आएं है। इसके लिए पहली बार सभी 38 जिलों में परीक्षा केंद्र बनाएं गए है।

यह भी पढ़ें  महात्मा गांधी सेतु का पूर्वी लेन बनकर तैयार, इस दिन नितिन गडकरी और सीएम नीतीश कुमार करेंगे लोकार्पण

बिहारशरीफ स्‍टेशन पर इंतजार करते आवेदक : बीपीएससी की 67वीं पीटी शनिवार, पहली बार सभी 38 जिलों में बनाए गए केंद्र. बताया जा रहा है की इसके लिए कुल 1083 केंद्र पर परीक्षा देंगे 5.20 लाख अभ्यर्थी, रिकार्ड संख्या में आए आवेदन
67वीं परीक्षा 802 पदों के लिए आयोजित की जा रही है। इसमें एक पद के विरुद्ध 648 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा दोपहर 12 बजे से दो बजे तक होगी। परीक्षा आरंभ होने से एक घंटा पहले परीक्षार्थियों को केंद्र पहुंचना अनिवार्य होगा। सभी परीक्षा केंद्रों पर जिला प्रशासन की ओर से धारा 144 लागू की गई है। परीक्षा के लिए सभी जिलों के डीएम को सह परीक्षा संयोजक बनाया गया है।

यह भी पढ़ें  बिहार में रोजगार की भरमार पटना में स्टार्टअप कॉन्क्लेव जुटेंगे 700 युवा स्टार्टअप उद्यमी