बिहार में अब आठ घंटे से अधिक काम कराने पर देना होगा दोगुना वेतन, जाने पूरी खबर

बिहार के कल-कारखानों में कार्य करने वाले लोगों के लिए यह बहुत ही जरूरी खबर है. बता दे की बिहार के निबंधित कल-कारखानों में आठ घंटे से अधिक काम कराने पर कामगारों को अब दोगुना वेतन देना होगा. इसे लेकर श्रम संसाधन विभाग ने नियमावली बना दी है. जानकारों की माने तो इस निर्णय का फायदा बिहार भर के निबंधित आठ हजार से अधिक कारखानों के दो लाख से अधिक कामगारों को होगा. पूर्व में ओवरटाइम के नाम पर कामगारों से काम लिया जाता रहा है, लेकिन उस ओवरटाइम का पैसा घंटा के मुताबिक दिया जाता था.

आपको बता दे की नयी नियमावली में यह साफ किया गया है कि आठ घंटे से अधिक काम कराने पर कारखाना मालिक को कामगारों को दोगुना वेतन देना होगा. विभाग ने कामगारों व नियोक्ताओं के बीच बेहतर संबंध बनाने के लिए नियमावली बनायी है. इसके तहत तय किया गया है कि निबंधित कारखानों में काम करने वाले कामगारों से तय अवधि में ही काम लिया जाये. एक कामगार से अधिकतम आठ घंटे ही काम लिया जायेगा. बता दे की इस तरह सप्ताह में एक साप्ताहिक अवकाश को मिला कर कामगार से अधिकतम 48 घंटे ही काम लिया जा सकेगा.

यह भी पढ़ें  बिहार में हजारों राशन कार्ड बंद करने जा रही है सरकार, कहीं आपका भी नाम नहीं शामिल? जानें क्या पूरा मामला

वेतन के साथ काम के घंटे और वार्षिक अवकाश तय : खास बात यह है की अब कामगार अब सप्ताह में 48 घंटे के अनुसार एक दिन में आठ घंटे ही काम करेंगे. बताते चले की अगर इससे अधिक काम कराया गया, तो कामगारों को वेतन की साधारण दर की दोगुना दर से वेतन देना होगा. वही, जिस फैक्टरी में 500 कामगार होंगे, वहां एक सुरक्षा अधिकारी बहाल किये जायेंगे. इससे अधिक कामगार होने पर अतिरिक्त कामगारों की बहाली की जायेगी.