बिहार के एक दर्जन से ज्यादा गांवों का होगा विकास, पटना से राजगीर की दूरी 33 किलोमीटर होगी कम

बिहार के इन गांवों का सड़क बहुत जल्द ठीक होने वाला है. बता दे की टूरिस्ट वे ऑफ राजगीर के निर्माण से पटना से राजगीर की दूरी 33 किलोमीटर कम हो जाएगी. 108 किलो मीटर से घटकर यह दूरी अब महज 75 किलोमीटर रह जाएगी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने करौटा-सालेहपुर-राजगीर पथ का हवाई सर्वेक्षण कर जायजा लिया और पदाधिकारियों को नूरसराय से राजगीर तक प्रस्तावित पथ को ग्रीन फील्ड परियोजना के रूप में विकसित करने का निर्देश दिया था.

आपको बता दे की इस सड़क के निर्माण से राजगीर तक पहुंचने में दूरी कम हो जायेगी और समय की भी बचत होगी. इसके साथ ही बख्तियारपुर-ताजपुर सड़क होते हुए वैशाली तक जाना सुगम हो जाएगा. वर्तमान में पटना से बख्तियारपुर व बिहारशरीफ होते हुए लोग 108.43 किलोमीटर का सफर पूरा कर राजगीर पहुंचते हैं. सीएम के निर्देश के बाद इसमें अब कमी होगी. सीएम ने सालेहपुर में आवश्यकता के अनुरूप एलिवेटेड पथ एवं आरओबी बनाने का भी दिशा दिया.

यह भी पढ़ें  Bihar Weather Alert: बिहार में बदल रहा है मौसम का मिजाज, औरंगाबाद, गया और कैमूर में लू को लेकर अलर्ट

मीडिया रिपोर्ट की माने तो टूरिस्ट वे ऑफ राजगीर शीघ्र ही बुद्ध सर्किट का हिस्सा बनेगा. यह सर्किट कुशीनगर से वैशाली, करौटा, तेलमर, सालेहपुर, सिलाव, नानंद, नालंदा, राजगीर, गया, सारनाथ होते हुए पुन: कुशीनगर में मिल जाएगा. जानकारों की माने तो जापान की टीम ने हफ्तेभर पहले सीएम से मुलाकात कर बुद्ध सर्किट के निर्माण पर विस्तृत चर्च किया था. जापान सरकार को टीम अपनी रिपोर्ट सौपेंगी. जापान सरकार के इसपर सहमति मिलने के बाद शीघ्र ही सर्किट के निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी.