बिहार में जीविका दीदियों को लखपति बनाएगी सरकार, संसाधन और योजनाओं को विकसित करने की जिम्मेदारी अफसरों की

बिहार के जीविका दीदियों को बिहार सरकार बहुत बड़ा तोहफा दिया है. बता दे की केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि गरीबों के आवास निर्माण, मनरेगा, आजीविका मिशन आदि केंद्र की कई योजनाओं में बिहार ने राष्ट्रीय स्तर से बेहतर काम किया है. इसमें जीविका दीदियों ने बड़ी मेहतन की है. जीविका दीदियों की आय में वृद्धि करने की जरूरत है. उनकी वार्षिक आमदनी एक लाख रुपये हो, इसके लिए साधन संसाधन और योजनाओं को विकसित करने की जिम्मेदारी अधिकारियों की बनती है. स्वतंत्रता सेनानियों के जन्म स्थान वाले गांव में बनेंगे तालाब, हर साल पौधारोपण व झंडातोलन होगा.

विभागीय योजनाओं की समीक्षा बैठक : आपको बता दे की पटना में शुक्रवार को विभागीय योजनाओं की समीक्षा बैठक के बाद गिरिराज सिंह ने कहा कि देशभर में 50 हजार तालाब बनेंगे. इसके तहत बिहार के भी हर जिले में एक-एक एकड़ में 75 तालाब बनाये जायेंगे. खास बात यह है की हर तालाब दस हजार क्यूसिक पानी की क्षमता वाला होगा. गिरिराज सिंह ने कहा है डबल इंजन की सरकार में विकास भी डबल हो रहा है. केंद्र में यूपीए सरकार थी, तो नौ करोड़ श्रम दिवस थे. एनडीए में यह संख्या 15 करोड़ है. यूपीए सरकार 8632 करोड़ जारी करती थी. अब 24 हजार करोड़ से अधिक जारी हो रहा है.

केंद्र नयी योजनाओं के लिए बजट भी दे : श्रवण कुमार बताते चले की बैठक में मौजूद बिहार के ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने केंद्रीय मंत्री से मांग की है कि केंद्र सरकार बिहार में नयी योजना लांच कर रही है. पुरानी योजनाओं को विस्तार दे रही है. नये काम जोड़े जा रहे हैं, लेकिन पैसा अलग से नहीं दिया जा रहा है. केंद्र को अलग से बजट का प्रावधान करने की जरूरत है.