अच्छी खबर : पटना में सिल्क मार्क एक्सपो का हुआ शुभारंभ, अब प्योर सिल्क पहचानना हुआ आसान

बिहार के लोगों के लिए यह बहुत ही अच्छी खबर है. बता दे की बिहार में पहली बार सिल्क मार्क एक्सपो (Silk Mark Expo) का आयोजन किया जा रहा है. प्योर सिल्क को लेकर जागरूकता पैदा करने और इसे बढ़ावा देने के मकसद से सिल्क मार्ग ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया, वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा सिल्क मार्ग एक्सपो का पटना (Patna) में आयोजन किया गया. बुधवार को उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन (Shahnawaz Hussain) ने सिल्क मार्क एक्सपो का शुभारंभ किया. एक मई तक चलने वाले इस सिल्क मेले में बिहार के अलावा देश के अलग-अलग राज्यों के 45 स्टाल लगे हुए हैं.

आपको बता दे की सिल्क मार्क एक्सपो आयोजन का मकसद लोगों में सिल्क की पहचान करने में जागरूकता लाना है. जब भी कोई आप सिल्क की साड़ी यस सिल्क के कपड़े खरीदेंगे तो उस पर टैग लगा होगा जिससे आप सिल्क की पहचान आसानी से कर सकते हैं. उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार में उद्योगों को बढ़ावा दिया जा रहा है. यही वजह है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मेरे कहने पर 1,719 एकड़ जमीन मुझे (उद्योग मंत्रालय) दी है ताकि उद्योग के क्षेत्र में और ज्यादा बेहतर काम किया जा सके. उन्होंने कहा कि सिल्क को बढ़ावा देने के लिए 1,400 बुनियादी मशीन वितरित की जाएगी ताकि और बेहतर सिल्क बनाई जा सके.

खास बात यह है की उन्होंने कहा कि पहले महिलाएं अपने पैरों पर धागे बनाती थी जिससे उनके पैर जख्मी हो जाते थे. लेकिन अब बदलते जमाने के साथ इसे बदल दिया गया है. अब महिलाएं बुनियादी मशीन से धागे बनाती हैं जो ज्यादा अच्छा होता है. साथ ही महिलाओं को जख्म भी नहीं होता. इस मशीन से उतने ही समय में तीन गुना अधिक धागा बनाया जाता है. साथ ही धागा की क्वालिटी कोरिया और चीन से भी अच्छा है.