अच्छी खबर: बिहार के 13 जिलों में खुलेंगे मेडिकल कॉलेज, MBBS सीटों की संख्या बढ़कर हो जाएगी 4,500

बिहार में रह कर मेडिकल की तैयारी करने वाले लोगों के लिए बहुत ही अच्छी खबर है. बता दे की बिहार सरकार अगले पांच सालों में 13 जिलों में 13 नये मेडिकल काॅलेज एवं अस्पताल खोलने जा रही है. इसके बाद वर्ष 2027 तक बिहार में 26 जिलों में 33 मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल हो जायेंगे. वर्तमान में बिहार के 13 जिलों में 20 मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल हैं, जहां एमबीबीएस की पढ़ाई हो रही है. इनमें 12 सरकारी और आठ निजी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल हैं. इनमें मुंगेर और पूर्वी चंपारण जिले में मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए हाल ही में कैबिनेट ने 1207 करोड़ रुपये मंजूर किये हैं.

आपको बता दे की वर्तमान में बिहार के मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की कुल 2540 सीटों पर विद्यार्थियों का नामांकन होता है. नये 13 मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों की स्थापना के बाद बिहार में एबीबीएस की सीटें बढ़ कर करीब साढ़े चार हजार हो जायेंगी. साथ ही बिहार में मरीजों के बेहतर इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में बेडों की संख्या करीब 20 हजार हो जायेगी. इन सभी मेडिकल कॉलेजों के संचालन के लिए राज्य में अपना मेडिकल विश्वविद्यालय भी स्थापित हो जायेगा.

पटना में सबसे अधिक छह मेडिकल कॉलेज : जानकारों की माने तो अभी जिन जिलों में मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल संचालित हो रहे हैं, उनमें पटना जिले में सर्वाधिक छह मेडिकल कॉलेज अस्पताल हैं. इसके अलावा मुजफ्फरपुर व सहरसा में दो-दो और गया, दरभंगा, बेतिया (पश्चिम चंपारण), मधेपुरा, भागलपुर, कटिहार, मधुबनी, किशनगंज, सासाराम और पावापुरी (नालंदा) में एक-एक मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल हैं.

हर नये मेडिकल काॅलेज में एमबीबीएस की 150 सीटें : बताते चले की नये बनने वाले मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों में एमबीबीएस की 150-150 सीटों पर नामांकन की योजना है. साथ ही हर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 500 से 1000 बेडों की स्थापना चरणवार की जायेगी.

बिहार इन 13 जिलों में खुलेंगे नये मेडिकल कॉलेज : जमुई, बक्सर, सीवान, पूर्णिया, छपरा (सारण), समस्तीपुर, महुआ (वैशाली), आरा (भोजपुर), बेगूसराय, मधुबनी, सीतामढ़ी, मुंगेर व पूर्वी चंपारण.