पटना जंक्शन पर 99 रुपये में चाय-काफी के साथ एक घंटे वाइ-फाइ फ्री, जाने और क्या-क्या मिलेगी सुविधा

पटना जंक्शन पर आने जाने वाले यात्रियों के लिए बहुत ही बड़ी खबर है. बता दे की लंबी दूरी की ट्रेनों का इंतजार करनेवाले यात्रियों को आराम करने के लिए परेशानी नहीं होगी. मात्र 99 रुपये में एक घंटे के लिए चाय- कॉफी और एक बोतल पानी के साथ गद्देदार सोफे पर आराम करने की सुविधा मिलेगी. वहीं, 129 रुपये में एक घंटे के लिए बेड की सुविधा मिलेगी. यहां भी चाय या कॉफी के अलावा पानी की बोतल फ्री रहेगी. इतना ही नहीं, लाउंज आनेवाले यात्रियों को वाइ-फाइ की नि:शुल्क सेवा है.

एग्जीक्यूटिव लाउंज में यात्रियों को सुविधा शुरू : खास बात यह है की यात्री पटना जंक्शन पर कुछ घंटे तक रूम बुक कराके पूरे परिवार के साथ आराम कर सकते हैं. दरअसल, पटना जंक्शन के टिकट काउंटर के सामने एग्जीक्यूटिव लाउंज में यात्रियों को सुविधा शुरू की गयी है. एग्जीक्यूटिव लाउंज अब चालू हो गया है. बीओटी मोड पर बने लाउंज में वीआइपी लोगों के लिए सारी सुविधाएं हैं. यहां नहाने, खाने-पीने की सुविधाओं के साथ आराम की भी सुविधा मिलेगी.

यह भी पढ़ें  मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी की हवा साफ करने के लिए मिले चार करोड़ रुपये, मशीन से होगी एनएच की साफ-सफाई

दो मंजिला भवन हुआ है तैयार : आपको बता दे की इस वीआइपी लाउंज के ग्राउंड में सुपर डीलक्स शौचालय बनाया गया है. बेहतर सुविधा को लेकर यहां आनेवाले यात्रियों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. इसके इस्तेमाल पर यात्रियों को जेब कुछ अधिक ढीली करनी होगी, लेकिन व्यवस्था देख संतुष्टि मिलेगी. वहीं, फर्स्ट फ्लोर पर कैफे की व्यवस्था है. इस पर यात्री आराम से खानपान कर सकते हैं. शौचालय के उपयोग के लिए 30 रुपये, नहाने के 40 रुपये देने होंगे. दोनों का उपयोग एक साथ करने पर 60 रुपये देने होंगे.

छह घंटे के लिए करा सकते रूम बुक : बताते चले की लाउंज संचालक प्रवीण कुमार ने बताया कि वेज व नॉन वेज फूल थाली के अलावा फास्ट फूड की व्यवस्था है. यात्री के ऑर्डर करने पर जल्द सर्व कराया जायेगा. दूसरी मंजिल पर आरामदायक सोफा, जिस पर रेलयात्री आराम कर सकते हैं. रूम में अपने फैमिली के साथ समय बीता सकते है. चाय या कॉफी के अलावा पानी की बोतल फ्री में मिलेगी. संचालक ने बताया कि रेल यात्री छह घंटे के लिए रूम बुक करके स्नान, खाना पीना खाकर शहर में घूम सकते हैं.

यह भी पढ़ें  पटना मेट्रो का काम तेज, जायका की केंद्रीय टीम पूरे 6 महीने करेगी आकलन, जाने कहां तक पहुंचा काम