गया, बोधगया, नवादा व राजगीर में इसी साल पहुंचेगा गंगाजल, 4175 करोड़ रुपये से जलसंकट दूर करेगी नीतीश सरकार

बिहार के लोगों तक अब पहुंचेगा गंगाज. बता दे की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि गया, बोधगया, नवादा और राजगीर में जल संकट को दूर करने के लिए 4175 करोड़ रुपये की लागत से गंगाजल पहुंचाने का काम इसी साल पूरा कर लिया जायेगा. इससे गया और बोधगया की पवित्र भूमि पर रहने वाले लोगों को पवित्र गंगाजल भी मिलेगा. प्रतिदिन प्रति व्यक्ति 135 लीटर गंगा का जल कपड़ा धोने से लेकर नहाने तक के काम में इस्तेमाल कर सकेंगे.

महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र का लोकार्पण : आपको बता दे की शनिवार को बोधगया में 153 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र का लोकार्पण करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र के ठीक बगल में पर्यटकों के लिए 136 करोड़ रुपये की लागत से 100 कमरे के विशिष्ट अतिथि गृह का निर्माण करा रहे हैं. इसके साथ-साथ इसके एप्रोच पथ का काम भी इस साल के दिसंबर माह तक पूरा कर लिया जायेगा. इससे पर्यटकों की संख्या में और अधिक इजाफा होगा.

इन वजहों से हुई महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र के निर्माण कार्य में विलंब : खास बात यह है की बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र का शिलान्यास हमने 13 अक्तूबर, 2018 को किया था. वर्ष 2020 तक इसका निर्माण कार्य पूरा करने का लक्ष्य था, लेकिन कोरोना के कारण निर्माण कार्य में विलंब हुआ.

सीएम ने किया महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र का मुआयना : बताया जा रहा है की लोकार्पण से पूर्व बिहार के मुख्यमंत्री ने महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र का मुआयना किया. वही इस दौरान उन्होंने मीटिंग रूम, बहुद्देशीय हॉल, डायनिंग हॉल, अति विशिष्ट कक्ष और अतिथियों एवं पर्यटकों के आवासन हेतु केंद्र के प्रांगण में निर्माणाधीन भवन के संबंध में विस्तृत जानकारी ली.