उड़ीसा की लड़की को बिहार में मिला उसका बिछड़ा प्यार, पुलिस ने किया कुछ ऐसा कि बोले प्रेमी-प्रेमिका…

पुराने ज़माने में एक कहावत कही जाती थी शायद आपलोगों ने भी सुना होगा ! प्यार में लोग न जात न पात न मजहब न धर्म देखते है एक दुसरे को पाने के लिए प्रेमी कोई भी हद पार कर सकते है | आज बिलकुल यही कहाबत पर एक घटना घटी है. बता दे की उड़की की एक लड़की अपने प्रेमी को पाने के लिए बिहार पहुंची। वह बांका के एक लड़के से प्यार करती थी। वह काफी खोजते—खोजते लड़के के घर पहुंची। लड़की को सामने देख उसका प्रेमी घबरा गया, क्योंकि उसकी शादी कहीं और तय हो चुकी थी। दोनों को उड़ीसा में ही प्यार हुआ था। बांका का लड़का उड़ीसा में ही रहकर काम करता था। इसी दौरान उसे घर से पता कि उसकी शादी कर दी गई है। उसे घर आने को कहा गया। लड़का ने अपनी प्रेमिका से कहा कि वे घर जा रहा है, कुछ काम है। जल्दी ही लौटेगा। लेकिन वह नहीं लौटा। किसी तरह लड़की को पता चला कि उसी शादी कहीं और तय हो गई। फिर क्या था, लड़की यहां पहुंच गई।

इस तरह हुआ था प्यार : आपको बता दे की बिहार के बांका के रानीबांध निवासी चंदन कुमार ने उड़ीसा में अपने साथ काम कर रही युवती के साथ प्रेम प्रसंग में आंखें चार कर ली थी। लेकिन इसी बीच चंदन की शादी अन्यत्र कहीं होने की सूचना पर चंदन उड़ीसा से निकल गया। उसके साथ काम कर रही युवती पूजा पुष्पलता दास ने कटोरिया थाना पहुंच कर पुलिस से उसके प्रेमी से मिलाने की गुहार लगाई। इसी बीच प्रेमी चंदन मौके की नजाकत को देख खिसक गया। लेकिन ककवारा मुखिया प्रतिनिधि सुनील यादव व समाजसेवी दिलीप झा की सूझबूझ से इस पूरे मामले का निपटारा शनिवार को कर लिया गया।

खास बात यह है की इस मामले को लेकर थानाध्यक्ष शंभू यादव ने बताया कि जनप्रतिनिधि और सामाजिक पहल से पुलिस ने शादी करा दिया गया है। दोनों एक दूसरे को पाकर खुश है। चंदन ने बताया कि वह पूजा से ही शादी करना चाहता था, लेकिन घर वालों ने चंदन की शादी कहीं और तय कर दी थी, इस कारण चंदन दुविधा में था। अब शादी होने के बाद से दोनों खुश है। दोनों ने कहा कि हम दोनों का अपना प्यार मिल गया।