फिर जारी हुई Smart city की रैंकिंग, 20 पायदान नीचे खिसका भागलपुर, जानें बिहार के बाकी जिलों का क्या है हाल

स्मार्ट सिटी मिशन स्थानीय विकास को बढ़ाने और प्रौद्योगिकी की मदद से नागरिकों के लिए बेहतर परिणामों के माध्यम से जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने तथा आर्थिक विकास को गति देने हेतु भारत सरकार द्वारा एक अभिनव और नई पहल है. बता दे की इस बार भागलपुर पिछले सप्ताह जारी रैंकिंग से 20 पायदान नीचे खिसक गया है। भागलपुर स्मार्ट सिटी का स्थान 51वां है। इसके पहले भागलपुर का स्थान 31वां आया था। हालांकि बिहार के चार स्मार्ट सिटी में भागलपुर अब भी पहले स्थान पर है। पटना का स्थान 65वां है तो बिहारशरीफ का 72वां और मुजफ्फरपुर का 86 वां स्थान आया है।

आपको बता दे की स्मार्ट सिटी की रैंकिंग में प्रोजेक्ट के प्रोग्रेस और राशि के खर्च का आकलन किया जाता है। देश के सौ स्मार्ट सिटी में पहले स्थान पर सूरत है तो दूसरे स्थान पर उदयपुर। तीसरे स्थान पर आगरा, चौथे पर वाराणसी, पांचवे पर भोपाल, छठे पर इंदौर, सातवें पर जयपुर, आठवें पर पूणे, नौंवे पर अहमदाबाद और तुमकुरु स्मार्ट सिटी है। भागलपुर का स्थान 51 वां है। भागलपुर में 0.62 प्रतिशत प्रोजेक्ट पूरा बताया गया है। 

बताया जा रहा है की भागलपुर को 382 करोड़ फंड ट्रांसफर किया गया है। भागलपुर स्मार्ट सिटी कंपनी ने 9.08 प्रतिशत फंड का इस्तेमाल किया है। भागलपुर का टोटल स्कोर 63.59 है। स्मार्ट सिटी कंपनी के प्रबंध निदेशक सह नगर आयुक्त प्रफुल चंद्र यादव ने कहा है कि पिछली बार भी रैंकिंग अच्छी थी। इस बार भी बिहार में बेहतर स्कोर है। कुछ तकनीकी कारणों से भी रैंकिंग ऊपर-नीचे होती है।