अच्छी खबर : मधुबनी में बनेगा बिहार का सबसे बड़ा इथेनॉल प्लांट, 1700 एकड़ में बनेगा यह एथनॉल प्लांट

बिहार के लोगों के लिए एक बहुत ही बड़ी खबर है. बता दे की बिहार में इथेनॉल के क्षेत्र के लिए गुड न्‍यूज है. बता दे की एसके चौधरी शिक्षा न्यास द्वारा संचालित कृषि विज्ञान केन्द्र, चानपुरा बसैठ में आयोजित तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य महोत्सव सह मेगा एग्री एक्स्पो के तीसरे दिन सोमवार को कार्यक्रम का उदघाटन बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शहनवाज हुसैन ने किया। उद्योग मंत्री ने कहा कि बिहार में सबसे बड़ा इथेनॉल का प्लांट मधुबनी के लोहट में जल्द लगेगा, जिसके लिए जमीन मिल गई है। कहा कि भारत के मुसलमानों के लिए भारत जैसा देश, नरेन्द्र मोदी जैसा पीएम एवं हिन्दू जैसा दोस्त कहीं नहीं मिलेगा। आज पीएम नरेन्द्र मोदी व भारत की तारीफ पूरी दुनिया में हो रही है। कहा कि अब तक पुर्णिया, आरा, गोपालगंज, परवता सहित चार इथेनॉल प्लांट बने हैं।

आपको बता दे की बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शहनवाज हुसैन ने कहा की मिथिला को विकास व उद्योग से जोड़ने के लिए व्यापक कार्य योजना के तहत कार्य किए जा रहे हैं। दरभंगा में अशोक पेपर मिल व पंडोल में सूत मिल के मामले को सुलझाने में लगे हुए हैं। उद्योग विभाग का बजट 1600 करोड़ का है। 19 लाख लोगों को रोजगार देने की जिम्मेवारी है। 2025 तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में काम करना है। बिहार व मिथिलांचल में विकास व उद्योग का जाल बिछेगा। मेगा टेक्सटाइल के लिए 1700 हेक्टेयर जमीन चाहिए, जिसकी तलाश की जा रही है। मंत्री ने एसके चौधरी शिक्षान्यास के अध्यक्ष डा. संत कुमार चौधरी के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि देश में 51 संस्थानों की स्थापना कर इन्होंने बेहतरीन कार्य किया है।

खास बात यह है की मंत्री हुसैन ने कहा कि 1600 करोड़ का उद्योग विभाग का बजट है। 19 लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने का जिम्मा है। सीएम नीतीश कुमार के अगुवाई में 2025 तक काम करना है। बिहार मिथिलांचल में उद्योग और विकास का बोलबाला होगा। मेगा टेक्सटाइल के निर्माण हेतु 1700 हेक्टेयर भूमि की जरूरत है, जिसकी खोज जारी है। उद्योग मंत्री ने एसके चौधरी शिक्षान्यास के चेयरमैन डा. संत कुमार चौधरी के कामों की तारीफ की।