पटना की सड़कों पर दौड़ेंगी 25 नई AC CNG बसें, कंपनी को मिला सप्लाई ऑर्डर

बिहार की राजधानी पटना की वायु गुणवत्ता देश के शहरों में सबसे खराब वाली स्तर में गिनी जाती है | बता दे की इस समस्या को बिहार सरकार बहुत खास रूप से देखती है | और इस प्रदुषण को हमेशा कम करने पर जोर देती है | अब राजधानी पटना में 25 नयी एसी सीएनजी बसें शहर की सड़कों पर दौड़ेंगी. इनके लिए टेंडर पूरा हो गया है और कंपनी को सप्लाई ऑर्डर भी दिया जा चुका है. दो कंपनी मिलकर इन बसों की आपूर्ति करेगी. बता दे की अगले माह अंत तक बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की सिटी बसों के बेड़े में ये बसें शामिल हो जायेंगी. वही पटना शहर की सड़कों पर दौड़ने वाली ये पहली एसी सीएनजी बसें होंगी. वर्तमान में 70 सीएनजी बसें शहर की सड़कों पर दौड़ रही हैं. इनमें 50 नयी हैं जबकि 20 पुरानी डीजल बसों में सीएनजी कीट लगा कर उन्हें सीएनजी में बदला गया है, लेकिन इनमें से कोई भी एसी नहीं है.

शहर में दौड़ेंगी 145 नयी सीएनजी बसें : आपको बता दे की शहर में 145 नयी सीएनजी बसें दौड़ेंगी. इनमें 120 नॉन एसी बसें जबकि 25 एसी बसें होंगी. इनमें 75 बसें बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के द्वारा लायी जायेंगी जिनमें 25 एसी और 50 नॉन एसी होगी. 50 सीएनजी बसें प्राइवेट बस ऑपरेटर्स के द्वारा लायी जा रही हैं. बसें आ चुकी हैं और इनके एवज में हर बस मालिक को डीटीओ के द्वारा 7.5 लाख रुपये का अनुदान स्वीकृत हुआ है. इस माह के अंत तक इनका शहर में परिचालन शुरू हो जायेगा. चरणबद्ध ढंग से शहर से प्राइवेट पीली सिटीराइड बसों को बाहर करने की मुहिम का यह अंग है.

20 दिव्यांग स्पेशल सीएनजी बसों के लिए छठी बार टेंडर : मीडिया रिपोर्ट की माने तो 20 दिव्यांग स्पेशल सीएनजी बसें आ रही हैं, जिनमें दिव्यांगों को उनके ट्रायसाइकिल समेत ले जाने की व्यवस्था होगी. सामान्य यात्री भी इन बसों का इस्तेमाल कर सकेंगे. हलांकि एक से अधिक वेंडर नहीं मिलने के कारण बीते डेढ़ वर्षो से इनका टेंडर पूरा नहीं हो पा रहा है और छठी बार बीते माह इसका टेंउर निकला है. यदि ये पूरा हो जाता है तो दो-तीन माह बाद ये बसें भी शहर में आ जायेंगी.