बिहार में नहीं होगी बालू की किल्लत, खनन कंपनियों को मिला दो महीने का विस्तार

बिहार में घर बनाने वाले लोगों के लिए यह बहुत ही अच्छी खबर है. खास कर आरा जिले में बालू खनन और निर्माण कार्य में जुड़े लोगों के लिए राहत वाली खबर है। बता दे की बिहार के सभी बालू घाटों को खनन के लिए मई माह तक का विस्तार मिल गया। इसकी अधिसूचना शुक्रवार को जारी होगी। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार खनन व भूतत्व विभाग आगामी तीन माह का विस्तार मांगी थी। उच्चतम न्यायालय के आदेश के आलोक में मात्र दो माह ही विस्तार मिला। 

आपको बता दे की जिले के सभी कंपनियों को गत दिसंबर माह में बालू घाटों की बंदोबस्ती की गई थी। वही 31 मार्च की रात 12 बजे तक जिले के 36 बालू घाटों पर खनन की स्वीकृति है। खनन विभाग से विस्तार मिलने के बाद इन्हें अगली किस्त की राशि जमा करने तक घाटों को बंद करना पड़ सकता है। बताया जा रहा है की हर हालत में जिले के सभी घाट दो अप्रैल से चलना शुरू कर देंगे। जिले के सोन नदी में 43 बालू घाटों को खनन का निर्देश मिला था। फिलहाल 36 घाटों पर बालू खनन चल रहा है। चार घाट विगत एक सप्ताह में मियाद पूरी होने के कारण बंद करा दिया गया था।

आधे से अधिक कंपनियां नहीं लेगी विस्तार : जानकारों की माने तो बालू के धंधे में कई कंपनियां मालामाल हो गई है, तो कई कंपनियां किसी तरह खर्च निकाल पायी है। जिन कंपनियों ने विगत तीन माह में ताबड़ातोड़ खनन किया है। वह विस्तार की इच्छूक है, जो कंपनी पहली बार बालू खनन में निवेश की, उसमें अधिकांश को मात खाना पड़ी।