अगर, नीतीश केंद्र में गए तो बिहार में क्या होगा? BJP से CM और JDU से डिप्टी CM हो सकता है

बिहार की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। राजनीतिक गलियारे में मंत्रिमंडल में फेरबदल की चर्चा जोरों पर है। एक चर्चा यह भी है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्यसभा जा सकते हैं और BJP से कोई CM बन सकता है। खबरों की माने तो मुख्यमंत्री राज्यसभा सांसद बन सकते हैं और BJP से कोई CM बनेगा। जबकि, नीतीश कुमार उन सभी कयासों को झुठला चुके हैं कि ऐसा कुछ होने वाला है। उन्होंने साफ कहा कि मेरी कोई व्यक्तिगत इच्छा नहीं है, लेकिन राजनीतिक हलकों में चर्चा तेज है कि अप्रैल में कुछ होगा।

मीडिया रिपोर्ट की माने तो बिहार सरकार के मंत्रिमंडल में अप्रैल में बदलाव हो सकता है। कहा तो यह भी जा रहा है कि मुख्यमंत्री के चेहरे पर BJP के अंदरखाने चर्चा शुरू हो गई है। हालांकि, यह सब कुछ BJP और JDU की आपसी सहमति के बाद ही संभव है। अभी बिहार में विधान परिषद का स्थानीय निकाय वाला चुनाव है। साथ ही बोचहां विधानसभा का उपचुनाव होने वाला है। दोनों चुनाव के बाद ही यह तय हो पाएगा कि बिहार की राजनीति की ऊंट किस करवट बैठेगी।

केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय के नाम पर चर्चा तेज है : आपको बता दे की केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय इस रेस में सबसे आगे हैं। उनके साथ सकारात्मक पहलू यह है कि वो यादव है और बिहार में लालू यादव परिवार से सीधा मुकाबला कर सकते हैं। राय केंद्र के नेताओं के काफी करीब है। वहीं, तारकिशोर प्रसाद को भी यह जिम्मेदारी दी जा सकती है। बता दे की यह अभी बिहार के उप मुख्यमंत्री है। जातीय समीकरण के मुताबिक, पिछडे़ समाज से आते हैं। इसके बाद सम्राट चौधरी का नाम आता है। ये जाति से कुशवाहा है। बहुत जल्द इन्होंने भाजपा में अपनी छवि एक कड़क नेता की बना ली है। केंद्रीय नेतृत्व के भी यह काफी नजदीक है।