अब बिहार से आसान होगा दिल्ली व कलकत्ता जाना, चार ग्रिनफिल्ड एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा बिहार

बिहार के लोगों के लिए यह बहुत ही अच्छी खबर है. जैसा की हम सब जानते है की बिहार में इस समय सड़को का काम बहुत ही तेजी से चल रहा है. खास बात यह है की बिहार के पांच शहरों में रिंग रोड़ के साथ ही आठ जिलों में नये बाइपास भी तैयार किये जाएंगे. वहीं चार एक्सप्रेस-वे बिहार से होकर गुजरेंगे. जिसके बाद बिहार के लोगों को सड़क मार्ग से आवागमन में काफी फायदा मिलेगा. विधानसभा में पथ निर्माण विभाग के मंत्री नितिन नवीन ने गुरुवार को सड़क से जुड़ी कई बड़ी घोषणाएं की.

1. गोरखपुर-सिलीगुड़ी ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे : आपको बता दे की यह सड़क छह लेन की होगी. इस सिक्स लेन की कुल लंबाई 519 किमी होगी. बिहार में इसकी लंबाई 416 किलोमीटर रहेगी. बता दे की इसे तैयार करने में सरकार 29 हजार करोड़ रुपये खर्च करने वाली है. बिहार के लोगों को कोलकाता तक जाने के लिए एक विशेष एक्सप्रेस-वे के तौर पर यह तोहफा मिलेगा.

यह भी पढ़ें  पटना आईआईटी में रिकॉर्डतोड़ प्‍लेसमेंट, छात्रों को सालाना ₹61 लाख रुपए का सालाना पैकेज

2. वाराणसी-कोलकाता ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे : बताया जा रहा है की वाराणसी से कोलकाता के बीच की यह सड़क छह लेन की होगी. सिक्स लेन के इस सड़क की कुल लंबाई 686 किलोमीटर होगी. यह बिहार में कैमूर, रोहतास, औरंगाबाद और गया से होकर गुजरेगा. इसमें गया के आमस से दरभंगा तक 200 किलोमीटर का मार्ग भी जुड़ेगा. सरकार इसके पीछे 19 हजार करोड़ रुपये खर्च कर रही है.

3. रक्सौल-हल्दिया ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे : यह सड़क व्यापार के नजरिये से काफी महत्वपूर्ण है. बिहसर में यह सड़क रक्सौल, पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, वैशाली, हाजीपुर और बांका से गुजरेगी. जानकारों की माने तो यह सड़क 680 किलोमीटर तक 6 लेन की होगी और इसे तैयार करने में सरकार 20 हजार करोड़ रुपये खर्च करेगी.

यह भी पढ़ें  बिहार के इस विभाग में निकली हैं बंपर भर्ती, CHO के 4000 पदों के लिए ये है आवेदन की अंतिम तारीख

4. .पटना-आरा-सासाराम ग्रीनफिल्ड एक्सप्रेस-वे : बिहार राज्य का यह सड़क बेहद महत्वपूर्ण है और 110 किलोमीटर लंबी यह सड़क चार लेन की बनेगी. फोर लेन इस सड़क को आरा रिंग रोड से जोड़ने के लिए 318 करोड़ की लागत से 12 किमी का कनेक्टिंग रोड बनेगा.