ये है बिहार के ‘स्पाइडर गर्ल्स’ : पलक झपकते ही पिलर पर चढ़ जाती हैं

दोस्तों आम जिन्दगी से दूर हर किसी का सपना होता है की कोई अनोखा आदमी बने दोस्तों सुपर हीरो स्पाइडर मैन (Spider man) को तो आप लोग बहुत अच्छी तरीके से जानते होंगे खास कर उनके जाल फेक कर दीवार पे चढ़ जाना का स्टाइल लेकिन आज हम आपको बिहार की ‘स्पाइडर गर्ल्स’ के बारे में बताने जा रहे है. खास बात यह है की जो बिना किसी बाहरी सहारे के 12 फीट की दीवारों पर चढ़ जाती है. बिहार की राजधानी पटना की रहने वाली 11 साल की अक्षिता गुप्ता की चर्चा हर तरफ है. दरअसल, सोशल मीडिया पर अक्षिता की वीडियो काफी वायरल हो रही है, जिसमें वो बिना किसी सहारे के ही दीवारों पर चढ़ने में देर नहीं करती. उनकी 9 साल की बहन कृपिता भी इस कारनामे को बखूबी अंजाम देती है. दोनों अपने इस कारनामें से सुर्खियां बटोर रही हैं.

यह भी पढ़ें  बिहार के पर्यटन स्थलों तक जाने के लिए जल्द होगा सड़कों का निर्माण, 12 हजार किलोमीटर से अधिक होगी लंबाई

चिकनी ग्रेनाइट की दीवार पर बिना किसी सहारे के चढ़ने का हुनर : आपको बता दे की राजधानी पटना की दो बहनें अक्षिता और कृपिता को लोग ‘स्पाइडर गर्ल्स’ कहकर बुलाने लगे हैं. बता दे की दानापुर के बीबीगंज के रहने वाले अजीत कुमार गुप्ता की दोनों बेटियां पलक झपकते ही बेहद चिकनी और सपाट दीवारों पर भी बिना किसी सहारे के ही चढ़ जाती हैं. जैसा हम सब जानते है की यह आम इंसान के करना बहुत मुस्किल है. वही इसे टैलेंट कहें या फिर प्रैक्टिस का करिश्मा लेकिन ये कारनामा अपने आप में बेहद खास है. ANI के अनुसार, 11 साल की अक्षिता गुप्ता और उनकी 9 साल की बहन कृपिता का दावा है कि वे चिकनी ग्रेनाइट की दीवार पर बिना किसी सहारे के आसानी से अपने पैरों पर चढ़ सकती हैं. बता दें कि इस कारनामे का वीडियो भी वायरल हो रहा है.

यह भी पढ़ें  बिहार : जमीन की रजिस्ट्री कराने में ना करें देर, अप्रैल से बढ़ सकता है एमवीआर, होमवर्क में जुटा निबंधन विभाग

अभ्यास ने बना दिया आसान : बताया जा रहा है की बिहार की अक्षिता ने कहा कि जब उनकी मां और पिता दोनों कहीं बाहर जाते तो उसे दीवारों पर चढ़ने की इच्छा होती थी. वो इसका अभ्यास करने लगी और धीरे-धीरे इसमें सफल होने लगी. देखते ही देखते निरंतर अभ्यास के कारण वो आसानी से 12 फीट की दीवारों पर चढ़ने लगी. बता दे की इसकी जानकारी जब माता-पिता को हुई तो वो दंग रह गये और चोटिल होने की बात कहकर ऐसा करने से मना किया. लेकिन अक्षिता नहीं मानी.