मिलिए बिहार के आईआईटियन चायवाला से चाय से बना रहे आज अपनी अलग पहचान

काम कोई भी छोटा नहीं होता है. और कोई काम बड़ा नहीं होता अगर आप पैसे के नज़रिए से देखे तो आपको छोटा बड़ा दिख सकता है | इस बात को सच साबित कर के दिखाया है बिहार के iitian चाय वाला ने दरअसल बिहार का एक ऐतिहासिक और महत्‍वपूर्ण शहर आरा हैं, जो राजधानी पटना से लगभग 53 किलोमीटर की दूरी पर हैं। बता दे की आरा का रमना मैदान यहाँ का सबसे बड़ा मैदान हैं। और इस मैदान से सटे कई सारी चाय की दुकानें देखने को मिलती हैं,

बताया जा रहा है की इसी बीच आईआईटियन चायवाला नाम से चल रहा एक टी-स्टाल राहगीरों को आकर्षित कर रहा हैं। केवल अनोखे नाम से ही नहीं बल्कि अपने अनोखे स्वाद से भी यहां की चाय ने अपनी अलग पहचान ली हैं । आईआईटियन चायवाला की चूल्हे से निकली हुई गर्म लाल कुल्हड़ में फ्लेवर्ड चाय जब डाली जाती हैं तो उससे निकला स्वाद लोगो के मन मन मे ताजगी भर देता है। नाम के जैसा हीं यह टी-स्टाल आईआईटी (IIT) और विभिन्न संस्थानों में पढ़ाई कर रहे छात्रों का आइडिया हैं ।

यह भी पढ़ें  बिहार में एक और हवाई अड्डा शुरू करने की कवायद तेज, नेपाल को भी मिलेगा इसका लाभ

मात्र दस रूपये में बेचते है चाय : आपको बता दे की रणधीर ने बताया है की उनकी योजना साल के अंत तक देशभर में 300 स्टाल खोलने की है। स्टार्टअप को आगे बढ़ाने के लिए वे वित्तीय संस्थानों से मदद लेंगे। इसके साथ-साथ वे अपने स्टार्टअप को पर्यावरण संरक्षण से जोड़ेंगे। अभी वे लोग स्टाल पर किसी तरह का प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करते हैं और केवल कुल्हड़ में चाय देते हैं।

खास बात यह है की इसके साथ-साथ आईआईटियन चाय दुकान में एक-दो नहीं, बल्कि 10 फ्लेवर में चाय मिलती है। इनमें, निम्बू, आम, सन्तरा, पुदीना, ब्लूबेरी आदि फ्लेवर की चाय लोग पसंद करते हैं। चाय बना रहे कर्मचारी ने बताया कि 10 रुपये में यहां कुल्हड़ में चाय मिलती है।

यह भी पढ़ें  बिहार के इन जिलों से होकर गुजरेगी सिलीगुड़ी - गोरखपुर एक्सप्रेस वे बिहार से दिल्ली का सफ़र मात्र 6 घंटे में