बिहार में राम-जानकी मार्ग का पूरा हिस्सा होगा फोरलेन, बिहार में 240 किमी लंबी होगी यह सड़क

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बिहार में राम जानकी मार्ग को चार लेन में बनाने की मंजूरी दे दी है. शुक्रवार को उन्होंने पत्र लिखकर बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन को यह जानकारी दी. अपने पत्र में केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि राम जानकी मार्ग धार्मिक महत्‍व एवं पथ निर्माण विभाग, बिहार के अनुरोध को स्‍वीकार करते हुए इस राजमार्ग को बिहार में चार लेन किया जाएगा.नवीन नवीन ने बताया कि राज्य में करीब 240 किलोमीटर की लंबाई में बन रहे राम जानकी मार्ग में से सिर्फ 90 किमी ही फोरलेन मानक के अनुरूप है. शेष 150 किमी दो-लेन सड़क के रूप में प्रस्‍तावित है. केंद्र सरकार से 150 किमी लंबाई को भी फोरलेन किये जाने का प्रस्‍ताव दिया गया था. इसी पर केंद्र की अनुमति मिली है. अब पूरा 240 किलोमीटर लंबी राम जानकी सड़क चार लेन की होगी.

यह भी पढ़ें  15 दिन के अन्दर 2 लाख से अधिक शिक्षकों का होगा तबादला, शिक्षिका को मिलेगा मनचाहा जगह

बिहार में मेहरौना से भिट्ठामोड़ तक बननी है राम-जानकी सड़क : जानकारी के अनुसार बिहार में राम जानकी मार्ग उत्‍तर प्रदेश सीमा पर स्थित मेहरौना से शुरू होकर सीतामढ़ी जिले में नेपाल के अन्‍तर्राष्‍ट्रीय सीमा पर स्थित भिट्ठा मोड़ तक जाती है. इसकी लंबाई लगभग 240 किमी है. पीएम पैकेज बिहार-2015 के अंतर्गत इस पथ के 200 किमी भाग को फोरलेन सड़क में विकसित करने का काम एनएचआई द्वारा सिवान से मशरख, सत्‍तर घाट होते हुए चकिया तक डीपीआर तैयार कराया जा रहा है.

जमीन अधिग्रहण शुरू : आपको बता दे की मेहरौना से सिवान तक लगभग 40 किमी लंबाई में फोरलेन सड़क निर्माण के लिए एलाइनमेंट तय कर भूमि अधिग्रहण हो रहा है. बाकी बचे 200 किमी में से 52 किमी लंबे सिवान-मशरख पथ को ही फोरलेन सड़क में विकसित करने के लिए भू-अर्जन किया गया है. शेष 31 किलोमीटर लंबाई में से करीब 8 किलोमीटर राजापट्टी–फैजुल्‍लापुर और करीब 23 किलोमीटर केसरिया-चकिया सड़क को पेभ्‍ड सोल्‍डर के साथ दो-लेन सड़क में विकसित करने के लिए भू-अर्जन कार्य प्रगति पर है. चकिया-शिवहर-सीतामढ़ी-भिट्ठा मोड़ सड़क के लिए एनएचएआई द्वारा डीपीआर तैयार करवाया जाएगा.

यह भी पढ़ें  बिहार की बेटी ने किया कमाल, अंतराष्ट्रीय स्तर की सौन्दर्य प्रतियोगिता का खिताब किया अपने नाम