बिहार में जनवरी के आखिरी हफ्ते में शुरू होगा भूमि सर्वेक्षण, जानिए कौन से कागज होंगे जरूरी…

बिहार के लोगों के लिए एक बुहत ही अच्छी खबर है. जानकारी के अनुसार बिहार के 18 जिलों में जल्द ही विशेष सर्वेक्षण अभियान चलाया जाएगा. इसके लिए भू अभिलेख और परिमाप निदेशालय की ओर से सारी तैयारी कर ली गई है | इसके लिए जिलों के डीएम सह बंदोबस्त पदाधिकारियो को भी अपने- अपने जिले मे सर्वे पूर्व होने वाले कार्य शुरू कर देने के निर्देश दे दिया गया है. जनवरी के आखिरी सप्ताह तक यह सर्वेक्षण कर लिया जाएगा |

चरणबद्ध तरीके से पूरा होगा काम : बताया जा रहा है की अधिकारिओ को शिविर आदि को लेकर तैयारी रखने के दिशा- निर्देश जारी कर दिए गए हैं. जिन क्षेत्रों मे कार्य किया जाना है, उनके चयन के लिए अंचल एवं गठित होने वाले शिविरो का निर्धारण भू अभिलेख एवं निदेशालय के नोडल पदाधिकारी की सलाह पर किया जायेगा. राज्य मे विशेष सर्वेक्षण एवं बंदोबस्त का कार्य चरण बाई चरण सभी काम किया जाएगा |

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर: बिहार के बोधगया में अंतरराष्ट्रीय महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र का CM नीतीश ने किया उद्घाटन

बिहार के इन जिलों में होगा विशेष सर्वे ; आपको बता दे की योजना के अनुसार, पहले चरण मे 20 जिलो मे सर्वे का कार्य शुरू किया गया था. इन जिलों मे सर्वे का कार्य मंजिल के करीब पहुंचते ही सरकार ने बचे हुए 18 जिलों पटना, मुजफ्फरपुर, गया, भागलपुर, भोजपुर, सारण, दरभंगा, औरंगाबाद, कैमूर, बक्सर, वैशाली, रोहतास, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, समस्तीपुर, सीवान, गोपालगंज व नवादा मे भी विशेष सर्वेक्षण एवं बंदोबस्त शुरू करने की घोषणा कर दी है़ |

आंकड़े जुटाने का काम शुरू : खबरों की माने तो जनवरी से ही विशेष सर्वे एवं बंदोबस्त का दूसरा चरण शुरू करने के लिए 18 जिलों के डीएम को कहा गया है कि जिले मे बंदोबस्त कार्यालय स्वतंत्र रूप से चार कमरे और एक हॉल वाला बंदोबस्त कार्यालय बना लिया जाए. बंदोबस्त कार्यालय को राजस्व संबंधी आंकड़ो को एकत्रित करने का काम शुरू कर दिया गया है. अंचल में कुल राजस्व ग्रामों की संख्या, कितने गांवों का खतियान उपलब्ध है, कितने गांव का खतियान उपलब्ध नहीं है. इन सभी के आंकड़े जुटाए जा रहे हैं |

यह भी पढ़ें  बिहार में हेडमास्टर पोस्ट के लिए बम्पर बहाली जल्दी करें आवेदन, इस बार नहीं लिया जाएगा इंटरव्यू, ऐसे होगी भर्ती