बिहार में ओले गिरने से सड़क पर बिछ गई सफेद चादर, 14 जनवरी तक रह सकता है ऐसा मौसम

साइक्लोनिक सकुर्लेशन के प्रवेश करने और बंगाल की खाड़ी से आ रही नमी की वजह से बिहार में माैसम में बदलाव हुआ है। बता दे कीदेव सूर्य मंदिर से लेकर आस-पास के बड़े हिस्से में यह ओलावृष्टि हुई है। इसके कारण काफी नुकसान भी हुआ है। ओलावृष्टि के बाद लगभग एक फीट तक इसका ढेर लग गया। मंदिर के आस-पास तो कई फीट ओले पड़े हुए थे। स्थानीय लोग भी इस तरह की ओलावृष्टि देखकर हैरत में पड़ गए।

आपको बता दे की आरा में भोजपुर के सहार इलाके में काफी ओले पड़े। सासाराम में दावथ व कोचस प्रखंड में बुधवार की दोपहर में बारिश और ओलावृष्टि से रबी फसल को काफी नुकसान पहुंचा है। बताया जा रहा है की इसको लेकर किसानों की परेशानी बढ़ गई है। किसानों ने बताया कि अचानक बदले मौसम के कारण रबी, दलहन, तोरी, मटर, मसूर, आलू, सहित रबी फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। हलांकि जिले के अन्य प्रखंडों में बारिश नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें  राष्ट्रपति चुनाव के लिए नीतीश कुमार होंगे विपक्ष के उम्मीदवार? KCR और प्रशांत किशोर का हाथ

15 जनवरी काे माैसम साफ हाेने की संभावना : कोल्ड डे ताे नहीं रहा पर कोल्ड डे की तरह हालात बने रहे। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार, 15 जनवरी काे माैसम साफ हाेने की संभावना है। उसके बाद कनकनी बढ़ेगी। मंगलवार काे नवादा, औरंगाबाद, भभुआ, डेहरी, मोतिहारी, दाउदनगर, कैमूर आदि में बारिश हुई। सबसे अधिक बारिश औरंगाबाद में 7.2 एमएम दर्ज की गई।