बिहार में पहाड़ तोड़कर बन रही है नई रेल सुरंग, 100 KM/H की रफ्तार से गुजरेगी ट्रेन

बिहार में जमालपुर और रतनपुर रेलवे स्टेशनों के बीच स्थित बरियाकोल रेल सुरंग के समानांतर बनी दूसरी नई रेल सुरंग का काम जल्द ही पूरा होने वाला है. खबरों की माने तो इस सुरंग के बन जाने के बाद ट्रेनों के संचालन के लिए आजकल इलेक्ट्रिफिकेशन का काम जारी है. इस नई रेल सुरंग को इस तरह तैयार किया जा रहा है, ताकि राजधानी और तेजस एक्सप्रेस जैसी सुपरफास्ट ट्रेनें 100 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा की रफ्तार से चल सके.

आपको बता दे की वर्ष 2022 में नये साल के शुरुआत में नई सुरंग होकर राजधानी का परिचालन होगा. ऐसा अनुमान है कि दिसंबर माह के आखिरी सप्ताह में मुख्य संरक्षा आयुक्त 24 कोच की ट्रेन दौड़ाकर नए सुरंग की जांच करेंगे. इसके बाद सीआरएस विजिट का इंतजार किया जाएगा. सीआरएस विजिट के बाद एनओसी मिलने के उपरांत ही इस रेलखंड से होकर यात्री ट्रेनों का परिचालन आरंभ हो पाएगा. नई सुरंग से ट्रेनें 80 से 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी.

यह भी पढ़ें  बिहार में कैसी है मानसून की चाल? बारिश को लेकर क्‍या कहता है मौसम विभाग?

बताया जा रहा है की पूर्व रेलवे मालदा डिवीजन में जमालपुर और रतनपुर के बीच बनी दूसरी नई रेल सुरंग से ट्रेनों का परिचालन आरंभ कराना सर्वोच्च प्राथमिकता में शुमार है. जिसको लेकर यहां नई सुरंग में रेल पटरी बिछाने का कार्य संपन्न कर लिया गया है. अब रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन के कार्य को भी अंजाम दिया जा रहा है.