चिराग पासवान गलती सुधारेंगे, तभी एक होने की बनेगी संभावना, विलय पर पशुपति कुमार पारस ने रख दी ये शर्त

केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री पशुपति कुमार पारस और लोजपा संस्थापक राम विलास पासवान के बेटे एवं जमुई सांसद चिराग पासवान के बीच की दूरी कम हो रही है. आपको बता दे की अपने संसदीय क्षेत्र हाजीपुर में रविवार को एक निजी कार्यक्रम में पशुपति कुमार पारस ने चिराग पासवान को प्रायश्चित करने की न केवल सलाह दी, बल्कि यहां तक कह दिया कि चिराग अपनी गलती को ठीक कर लेते हैं, तो मिलना संभव है.

आपको मालुम ही होगा की रामविलास पासवान के निधन के बाद लोजपा में दो फाड़ होने के साथ ही चाचा-भतीजे में तनातनी चली आ रही है. बता दे की केंद्रीय मंत्री की शिकायत है कि भतीजे चिराग पासवान ने उनके साथ बहुत खराब व्यवहार किया.

यह भी पढ़ें  बिहार के 11 जिलों से होकर गुजरेगी गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे, पूरा हिस्सा ग्रीनफील्ड होगा

खबरों की माने तो मंत्री का कहना था कि व्यक्ति नहीं समय बलवान होता है. समय की जब पुकार होगी तो क्या होगा, भविष्य में कहना मुश्किल है. चिराग पासवान जब तक प्रायश्चित नहीं करेंगे, तब तक एक होने की संभावना नहीं है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उनकी पार्टी एनडीए का हिस्सा है.