तैयार हो गया बिहार का पहला फ्लोटिंग सोलर पॉवर प्लांट, नीचे रहेगी मछली, ऊपर बिजली

बिहार के लोगों के लिए एक बहुत ही अच्छी खबर सामने आ रही है. बता दे की बिहार का पहला तैरता हुआ सोलर बिजली प्लांट तैयार हो चुका है. जिले के कादिराबाद मोहल्ले में बिहार का यह पहला तैरता पावर प्लांट एक तालाब के पानी मे लगाया गया है. यहां नीचे मछली का उत्पादन किया जाएगा और तालाब के ऊपर सोलर प्लेट लगा कर सौर ऊर्जा से बिजली का भी उत्पादन भी किया जाएगा. यानी नीचे मछली तो ऊपर बिजली.

बताया जा रहा है की तालाब के पानी के ऊपर सोलर प्लेट लगाने का काम लगभग पूरा हो गया है. अब इसे अंतिम रूप दिया जा रहा है. वहीं, इस सोलर प्लांट से उत्त्पन्न होने वाले बिजली को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए एक विद्युत उप केंद्र भी बनाये जा रहे हैं. इस सोलर प्लांट से 1.6 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जाएगा. प्रयोग सफल होने पर इसे और तालाबो में विस्तार भी किया जाएगा.

यह भी पढ़ें  Amazon ने बिहार के बेटा अभिषेक को दिया पूरे 1 करोड़ 8 लाख का बड़ा पैकेज, घरों में ख़ुशी का माहोल

आपको बता दे की सौर ऊर्जा से चलनेवाली यह तैरता बिजली प्लांट लगानेवाले कंपनी के प्रॉजेक्ट मैनेजर रोहित सिंह ने बताया कि यह बिहार का पहला फ्लोटिंग सौर ऊर्जा से चलने वाला पावर प्लांट है. इसका काम लगभग पूरा हो चुका है. सरकार के साथ मिलकर इस काम को पूरा किया जा रहा है. रोहित सिंह न बताया कि इस पावर प्लांट से 1.6 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा. लगभग पूरी तैयारी कर ली गई है. जैसे ही सरकार का विद्युत उप केंद्र बनकर तैयार हो जाएगा इसे चार्ज कर बिजली उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा.

बताते चले की बिहार के दरभंगा शहर के नगर विधायक संजय सरावगी ने बताया कि बिहार सरकार के PPP मोड पर यह फ्लोटिंग पावर प्लांट तालाब में लगाया गया है. यह एक सफल प्रयोग होने वाला है. इसमें सफलता मिली तो अन्य तालाबों में भी ऐसे सोलर प्लांट लगाए जाएंगे.

यह भी पढ़ें  बिहार के इन 5 जिलों में बनेंगे 7 रोड ओवर ब्रिज, जानें जाम से छुटकारा दिलाने का फुल प्लान