बिहार के इन जिलों में खुलेंगे 7 मेडिकल कॉलेज, बदलेगी राज्य की सूरत पढ़े पूरी डिटेल्स…

बिहार में अगले दो वर्ष के अंदर सात और मेडिकल कालेज व अस्पताल अपनी सेवा बिहार के लोगों को देने लगेंगे। इनमें एक पूर्णिया मेडिकल कालेज व अस्पताल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। जानकारी के अनुसार पूर्णिया सदर अस्पताल के तमाम उपकरणों और कर्मियों का समायोजन भी इस नए मेडिकल कालेज में करने की अनुमति दे दी गई है।

आपको बता दें कि बिहार की स्वास्थ वयवस्था कप देखते हुए बिहार में अगले दो साल में सात और मेडिकल कॉलेज व अस्पताल अपनी सेवा लोगों को देने लगेगा. इसमें एक पूर्णिया मेडिकल कॉलेज व अस्पताल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में हैं. पूर्णिया सदर अस्पताल के तमाम उपकरणों और कर्मियों का समायोजन भी इस नए मेडिकल कॉलेज में करने की अनुमति दे दी गई है |

यह भी पढ़ें  बिहार में हजारों राशन कार्ड बंद करने जा रही है सरकार, कहीं आपका भी नाम नहीं शामिल? जानें क्या पूरा मामला

बताया जा रहा है की यहां शैक्षणिक सत्र 2021-22 में 100 नामांकन के साथ MBBS की पढ़ाई शुरू करने की भी तैयारी है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि स्वास्थ्य संरचना को मजबूती देना सरकार की प्राथमिकता है. आपको बता दें कि राज्य के अलग-अलग जिलों में मेडिकल कॉलेज बनाए जा रहे हैं | बता दे की अस्पताल निर्माण को लेकर स्वास्थ्य विभाग की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार पूर्णिया, सारम, समस्तीपुर, मधुबनी, वैशाली, सीतामढ़ी और सिवान के मैरवा में मेडिकल कॉलेज व अस्पताल खोल जाएंगे. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार सात मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के निर्माण पर करीब 3465.12 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे |

यह भी पढ़ें  बिहार के रेल यात्री ध्यान दें, आज 327 ट्रेनों को रेलवे ने रदद् कर दिया है, यात्रा से पहले लिस्ट देख ले

विभाग की माने तो पूर्णिया के अलावा सारण जिले के छपरा में 500 बड समस्तीपुर के सरायरंजन में 500 बेड वाले श्रीराम जानकी मेडिकल कॉलेज व अस्पताल का निर्माण कार्य जारी है. इधर मधुबनी के झंझारपुर और सीतामढ़ी में भी पांच सौ बेड के राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल का निर्माण कार्य प्रारंभ हो चुका है |