बिहार में बाढ़ से राहत की पहलः कमला नदी पर बराज का निर्माण शुरू, CM नीतीश कुमार ने किया शुभारंभ

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने शुक्रवार को मिथिलावासियों को बाढ़ से निजात दिलाने के लिए बड़ी योजनाओं की शुरुआत की। बता दे की इस दौरान बिहार के मुख्यमंत्री ने कमला बलान नदी पर नए बराज के निर्माण का कार्य की शुरुआत कराई। इसके बाद जयनगर के बीडी कॉलेज मैदान में आयोजित जनसभा में उन्होंने कहा कि कमला बराज मिथिलांचल के विकास व बाढ़ से बचाव में मील का पत्थर साबित होगा। इसके बनने से बाढ़ से बचाव के साथ-साथ सिंचाई की भी सुविधा मिलेगी।

कमला नदी पर बराज का निर्माण आज से शुरू : सीएम नीतीश कुमार ने कमला बलान के बाएं और दाएं प्रतिबंधों पर 80 किलोमीटर लंबी सड़क चौड़ीकरण और पक्कीकरण का काम भी शुरू करवा दिया है। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि कमला नदी पर बियर का निर्माण 1970 में हुआ था, जो आज उतना इफेक्टिव नहीं है। इसके लिए हमलोगों ने फैसला किया कि कमला नदी पर बराज का निर्माण कराया जाएगा और आज इसका कार्य आरंभ भी हो गया है।

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : बिहार में बहुत जल्द होगा चार सड़क का निर्माण, सफ़र होगा सुहाना इन लोगों को मिलेगा लाभ

आपको बता दे की कमला में वीयर काफी पुराना है। उसमें पानी का बहाव काफी अधिक हो रहा है। गाद भरने के कारण पानी का बहाव ऊपर हो गया है। वीयर के जर्जर होने के कारण यहां बराज निर्माण का निर्णय लिया गया था। मुख्यमंत्री ने जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों को मंच से ही निर्देश दिया कि इसे निर्धारित समय वर्ष 2023 के मानसून से पहले पूरा करें। इस दौरान अधिकारियों को सतर्क करते हुए कहा कि आपके कार्य का औचक निरीक्षण हम कभी भी कर सकते हैं।

बताते चले की कार्यक्रम की अध्यक्षता करते जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा कि मिथिलांचल को विकास की राह पर लाने का पुरा श्रेय मुख्यमंत्री को जाता है। एम्स के लिए भी सीएम ने मिथिलांचल को चुना। पूरा बिहार विकास की ओर अग्रसर है। मौके पर पीएचईडी मंत्री डॉ. रामप्रीत पासवान, खाद्य एवं सुरक्षा मंत्री सह प्रभारी मंत्री लेसी सिंह, परिवहन मंत्री शीला मंडल समेत जिले के विधायक और अधिकारी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें  बिहार के नवनियुक्‍त 42000 शिक्षकों का इंतजार खत्‍म, नीतीश सरकार करेगी बकाए वेतन का भुगतान

नोट : इस न्यूज़ को इंटरनेट पर उपलब्ध अन्य वेबसाइट से म‍िली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है। apanabihar.com अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।
बिहार से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए https://www.facebook.com/apnabiharonline पेज को फॉलो करें