बिहार में जाम रोकने को पुलिस की अनोखी पहल, पहले करेगी जागरूक, फिर कटेगा चालान, चालकों को दी जाएगी यह सलाह

बिहार के विक्रमशिला पुल पर जाम से निजात दिलाने के लिए पुलिस नई पहल कर रही है। बिहार के भागलपुर और नवगछिया की तरफ टीओपी के पास और पुल पर बाइक से माइकिंग कर वाहन चालकों को जागरूक किया जा रहा है। बताया जा रहा है की पुलिस के पदाधिकारी और जवान वाहन चालकों को माइकिंग कर ओवरटेक नहीं करने की सलाह दे रहे हैं। इसके साथ ही उन्हें यह भी बताया जा रहा है कि ओवरटेक करते हुए पकड़े जाने पर जुर्माना भी लगाया जायेगा। इस जागरूकता अभियान के साथ ही दोनों तरफ टीओपी के अलावा पुल के बीच में बाइक से भी पुलिस के जवानों को गश्ती करने का निर्देश दिया गया है।

यह भी पढ़ें  बिहार में बाढ़ की समस्या से निपटने की तैयारी तेज, विधायक और विधान पार्षदों से लिया गया फीडबैक

दोनों तरफ एक-एक क्रेन स्थायी तौर पर रहेगा : आपको बता दे की बिहार के विक्रमशिला पुल पर जाम लगने के सबसे बड़े कारणों में वाहनों का ओवरटेक करना और बीच पुल पर वाहनों का खराब होना है। ओवरटेक पर रोक को जागरूकता फैलाई जा रही है जबकि पुल पर खराब हुए वाहनों को तुरंत हटाने के लिए दो निजी क्रेन भी स्थायी तौर पर उपलब्ध करा दिया गया है। 

डीआईजी सुजीत कुमार ने बताया कि दोनों निजी क्रेन के मालिक का कॉन्टैक्ट नंबर और नाम दोनों तरफ टीओपी पर उपलब्ध करा दिया गया है। जब भी वाहन खराब हो तो उन्हें कॉल कर क्रेन को तुरंत मंगवाया जा सकता है। जल्दी क्रेन के पहुंचने से खराब वाहन को जल्दी हटाया जा सकेगा और ज्यादा देर तक जाम की स्थिति नहीं रहेगी। 

यह भी पढ़ें  बख्तियारपुर से राजगीर के रास्ते दानापुर और तिलैया के बीच पैसेंजर ट्रेन का परिचालन शुरू, जाने ट्रेन का टाइम टेबल

विक्रमशिला पुल कई जिलों के लिए है लाइफलाइन : बिहार के विक्रमशिला पुल भागलपुर का कई जिलों से संपर्क का सबसे महत्वपूर्ण साधन है। यह पुल बिहार के भागलपुर को न सिर्फ नवगछिया से बल्कि अन्य जिलों में पूर्णया, खगड़िया, बेगूसराय, सुपौल, सहरसा, किशनगंज और अररिया को जोड़ता है। बता दे की बिहार के इस पुल से रोजाना बड़े और छोटे हजारों वाहनों का आवागमन होता है।

नोट : इस न्यूज़ को इंटरनेट पर उपलब्ध अन्य वेबसाइट से म‍िली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है। apanabihar.com अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।
बिहार से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए https://www.facebook.com/apnabiharonline पेज को फॉलो करें